Home /News /madhya-pradesh /

कमलनाथ और नटराजन के 'शेकहैंड' से बदले समीकरण, हार्दिक ने दिल्‍ली में डाला डेरा

कमलनाथ और नटराजन के 'शेकहैंड' से बदले समीकरण, हार्दिक ने दिल्‍ली में डाला डेरा

(File Photo- Credit Facebook)

(File Photo- Credit Facebook)

बताया जा रहा है कि दिल्‍ली में कमलनाथ और मिनाक्षी नटराजन ने हाथ मिला लिया है. वही पाटीदार नेता हार्दिक पटेल अपने खासुलखास महेन्‍द्र पाटीदार के टिकट के लिए दिल्‍ली में डेरा डाल चुके हैं

    मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर उठापटक का दौर जारी है. चुनाव आयोग ने तारीखों का भी ऐलान कर दिया है. इसी बीच बताया जा रहा है कि दिल्‍ली में कमलनाथ और मीनाक्षी नटराजन ने हाथ मिला लिया है. वही पाटीदार नेता हार्दिक पटेल अपने खासुलखास महेन्‍द्र पाटीदार के टिकट के लिए दिल्‍ली में डेरा डाल चुके हैं और उन्होंने मधुसुदन मिस्‍त्री, सिंधिया और अशोक गहलोत से महेन्‍द्र पाटीदार की मुलाकात भी कराई है.

    जानकारी के अनुसार कमलनाथ और मिनाक्षी के 'शेकहैंड' के बाद मालवा का सीन बदलता दिख रहा है. नीमच मंदसौर की बात करें तो इस शेकहैंड के बाद जावद से सत्‍तू पाटीदार, नीमच से उमराव सिंह गुर्जर, मंदसौर से विपिन जैन, सुवासरा से हरदीप डंग का नाम प्रस्‍तावित हुआ है, जबकि मनासा और मल्‍हारगढ महाराज सिंधिया के खाते में छोड़ी जा रही है. यहां से विजेन्‍द्र सिंह मालाहेडा मनासा और मल्‍हारगढ से परशुराम सिसौदिया का नाम सामने आया है. वहीं गरोठ सीट दिग्विजय के खाते में जाती दिख रही है, यहां से सुभाष सोजतिया का नाम प्रस्‍तावित है. (इसे पढ़ें- केंद्र ने घोषित की नई अफीम नीति, पट्टों के लिए घटाया मार्फिन प्रतिशत)

    इस गठजोड़ के बाद सारे समीकरण बदलते दिख रहें हैं और नए समीकरण बन रहें हैं. उधर मल्‍हारगढ में सिंधिया के दावेदार परशुराम को राकेश जावेरिया भी कड़ी टक्‍कर दे रहें हैं. कमलनाथ और मिनाक्षी नटराजन की जोड़ी सहमति के साथ चार टिकट लेकर अलग हो रही है, बाकी सीटों के घमासान में हो सकता है वे ना पड़ें.

    इन नए समीकरणों के बीच पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने दिल्‍ली में डेरा डाल दिया है और वे अपने खासुलखास महेन्‍द्र पाटीदार की लड़ाई लड़ रहें है. उन्होंने महेन्‍द्र पाटीदार की सिंधिया, मधुसुदन मिस्‍त्री और अशोक गहलोत से मुलाकात करवाई. यदि मंदसौर से महेन्‍द्र पाटीदार की उम्‍मीदवारी निश्चित होती है तो एक बार फिर जावद के समीकरण बदल सकते हैं और वहां से सत्‍तू पाटीदार का नाम कट सकता है.

    इस बदले हालात में मंदसौर सेसिंधिया के खासुलखास दावेदार मुकेश काला को सुवासरा या गरोठ शिफ्ट किया जा सकता है, क्‍योंकि इन दिनो ही सीटो पर करीब 40-40 हजार पोरवाल वोट हैं. यदि काला को उम्‍मीदवार नही बनाया गया तो गरोठ, सुवासरा और मंदसौर में मौजूद करीब 20 हजार पोरवाल वोटर कांग्रेस के ए‍कतरफा खिलाफ हो सकते हैं, वहीं पूरे संसदीय क्षेत्र में करीब डेढ लाख पोरवाल मतदाता हैं.

    कुल मिलाकर ताजा हालातों में दिल्‍ली का घमासान हद से ज्‍यादा बढ़ता दिखाई दे रहा है और लगता है अक्‍टूबर महीने के पहले पखवाड़े में कांग्रेस शायद मालवा में अपनी सूची जारी ना ही कर पाए.

    यह भी पढ़ें- मध्य प्रदेश में 28 नवम्बर को एक ही चरण में होगा मतदान, आचार संहिता लागू

    Tags: Bhopal news, Election commission, Madhya pradesh news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर