अफीम के किसानों के लिए अच्छी खबर, रुके हुए पट्टे होंगे बहाल!

मालवांचल में तीस हजार से ज्यादा परिवार अफीम की खेती करते हैं
मालवांचल में तीस हजार से ज्यादा परिवार अफीम की खेती करते हैं

2004 में रुके हुए अफीम के पट्टे बहाल होंगे और उन्हें फिर से अफीम की खेती किए जाने का मौका मिलेगा. हालांकि अभी आधिकारिक सूचना नहीं मिली है

  • Share this:
मध्य प्रदेश में अफीम उत्पादक मालवांचल के हजारों किसानो के लिए अच्छी खबर आ रही है. उनके वर्ष 2004 में रुके हुए अफीम के पट्टे बहाल होंगे और उन्हें फिर से अफीम की खेती किए जाने का मौका मिलेगा. हालांकि अभी आधिकारिक सूचना नहीं मिली है लेकिन फिर भी इस मुद्दे पर अब राजनीति गर्माने लगी है.

दरअसल, मालवांचल की राजनीति कहीं न कहीं अफीम के आस पास ही घूमती है क्योंकि यहां तीस हजार से ज्यादा परिवार अफीम की खेती करते हैं और ये एक बड़ा वोटबैंक भी पार्टियों के लिए है. ऐसे में किसानों के इस मुद्दे को कोई भी भुनाने से नहीं चूकता है और इस मामले में भी राजनितिक दल अपनी अपनी रोटियां सेकने में लगे हैं.

इस वर्ष आने वाली नई अफीम निति में ढाई हजार से ज्यादा किसानों के अफीम के पट्टे बहाल होने की सम्भावना ने किसानों में जयादा ख़ुशी का माहौल पैदा कर दिया है, तो वहीं राजनितिक दलों को पक्ष-विपक्ष करने का एक और मौका इस मामले ने दिया है.



इस मुद्दे पर कांग्रेस जहां बीजेपी का चुनावी स्टंट बताते हुए किसानों को ललचाए जाने की बात पर घेरने में लगी है तो वहीं भाजपाई नेता अपनी पार्टी को किसान हितैषी पार्टी बताते हुए उनके हित में निर्णय लिए जाने की बात कहते हुए कांग्रेस पर अफीम की खेती को ही समाप्त किए जाने का आरोप मढ़ने में हैं.
ये भी पढ़ें- शिवराज ने पीएम मोदी को दिया धन्यवाद, कहा- क्रांतिकारी योजना है आयुष्मान भारत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज