Home /News /madhya-pradesh /

हार्दिक पटेल ने हनुमान मुद्रा में बैठ किया यज्ञ, कहा- होगा शत्रु का नाश!

हार्दिक पटेल ने हनुमान मुद्रा में बैठ किया यज्ञ, कहा- होगा शत्रु का नाश!

हार्दिक पटेल ने कहा, 'हां मैने शत्रु दमन के लिए यह यज्ञ किया है. लेकिन वे शत्रु जनता के हैं मेरे नहीं. वे ताकतें जो जनता को बर्बाद करने में लगी हैं उनके विनाश के लिए यह यज्ञ किया है

    मध्य प्रदेश के तीन दिवसीय दौरे पर पहुंचे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने आगर मालवा के नलखेड़ा में एक ऐसा यज्ञ किया जिसकी चर्चा जमकर हो रही है. बताया जा रहा यह यज्ञ विशेष मुद्रा में बैठकर शत्रु के नाश के लिए होता है. इस यज्ञ की फोटो वायरल होते ही सोशल मीडिया पर हार्दिक पटेल का यह यज्ञ चर्चा का विषय बनी हुई है. (इसे पढ़ें- मालवा बना बड़ा चुनावी अखाड़ा, सिंधिया को मैदान में उतारने की तैयारी में कांग्रेस!)

    इससे पहले हार्दिक पटेल ने उज्जैन में महाकाल बाबा के दर्शन किया, उसके बाद वे आगर के नलखेड़ा स्थित बगलामुखी माता मंदिर पहुंचे जहां उन्होंने हनुमान मुद्रा में बैठकर यज्ञ में आहुति दी. यह आहुति सफेद राई और मिर्ची की दी गई. इस यज्ञ का वीडियो भी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.

    इस यज्ञ के बारे में कहा जाता है कि इस यज्ञ से शत्रु दमन और प्रसिद्धि में विशेष महत्व होता है. इस यज्ञ के बाद जब संवाददाताओं ने हार्दिक पटेल से बात की तो उन्होंने बिना किसी का नाम लिए बगैर कहा कि, 'हां मैने शत्रु दमन के लिए यह यज्ञ किया है. लेकिन वे शत्रु जनता के हैं मेरे नहीं. वे ताकतें जो जनता को बर्बाद करने में लगी हैं उनके विनाश के लिए यह यज्ञ किया है.'

    वहीं हार्दिक पटेल ने इससे पहले उज्जैन पहुंचकर बाबा महाकाल के दर्शन किए. वहां उन्होंने कहा कि मैं महाकाल मंदिर में आया हूं. प्रदेश ओर देश की खुशहाली के लिए कामना की है. मुझे पूरा भरोसा है कि आने वाला दिन काफी अच्छा होगा. उन्होंने कहा हम तो आंदोलनकारी हैं और आंदोलन ही करते हैं

    यह पढ़ें- हार्दिक पटेल ने किए महाकाल के दर्शन, बोले- आने वाले दिनों में कुछ अच्छा होगा

    Tags: Assembly Election 2018, Hardik Patel, Madhya pradesh elections, Madhya pradesh news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर