पीएम के ड्रीम प्रोजेक्ट के 'रोल मॉडल' हैं ये दंपत्ति, अब प्रभु की हरी झंडी का इंतजार
Neemuch News in Hindi

पीएम के ड्रीम प्रोजेक्ट के 'रोल मॉडल' हैं ये दंपत्ति, अब प्रभु की हरी झंडी का इंतजार
मध्यप्रदेश के नीमच जिले में भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) के एक अधिकारी ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु को एक पत्र लिखकर अपने निजी खर्च से भारतीय रेलों पर ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ के सन्देश चस्पा करने की अनुमति मांगी है.

मध्यप्रदेश के नीमच जिले में भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) के एक अधिकारी ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु को एक पत्र लिखकर अपने निजी खर्च से भारतीय रेलों पर ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ के सन्देश चस्पा करने की अनुमति मांगी है.

  • Last Updated: December 20, 2016, 1:16 PM IST
  • Share this:
मध्यप्रदेश के नीमच जिले में भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) के एक अधिकारी ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु को एक पत्र लिखकर अपने निजी खर्च से भारतीय रेलों पर ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ के सन्देश चस्पा करने की अनुमति मांगी है.

नीमच स्थित सरकारी ओपियम एन्ड अल्कलॉइड प्लांट के महाप्रबंधक और आईआरएस अधिकारी हरि नारायण मीणा ने बताया, ‘‘मैंने रेल मंत्री को पत्र लिखकर अपने निजी खर्च से भारतीय रेलों पर ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ के सन्देश चस्पा करने की अनुमति मांगी है, ताकि इसे जन-जन तक फैलाया जा सके.’’

इस सम्बन्ध में केंद्रीय रेल मंत्री को लिखे पत्र में आईआरएस अफसर मीणा ने लिखा, ‘‘मैं और मेरी पत्नी डॉ. हेमलता मीणा पिछले आठ वर्षों से बेटियों को बचाने और उन्हें पढ़ाने हेतु देश भर में जागरूकता फैलाने में जुटे हैं. इस कार्य को हमने देश भर में विभिन्न रूपों में चलाया है तथा सैकड़ों होनहार बेटियों को हमने सम्मानित भी किया है.’’



उन्होंने पत्र में कहा कि ये सब हमने अपने सालाना वेतन में से एक माह के वेतन को बेटियों के लिए समर्पित करके किया है. इसके लिए हम किसी से कोई चंदा नहीं लेते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading