Lockdown में शराब दुकानें बंद हैं तो इस तरह प्लास्टिक के डिब्बों में रही है तस्करी
Neemuch News in Hindi

Lockdown में शराब दुकानें बंद हैं तो इस तरह प्लास्टिक के डिब्बों में रही है तस्करी
शराब की तस्करी

30 मई को नीमच में आपदा प्रबंध की बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष अवंतिका मेहर सिंह जाट ने कच्ची शराब का मुद्दा उठाया था. उन्होंने कहा था कि शराब बंदी का फायदा उठाकर गांव में बड़े पैमाने पर लोग हाथ भट्टी की शराब बनाकर बेच रहे हैं. इसकी शिकायत महिलाओं ने की है.

  • Share this:
नीमच. नीमच में lockdown के दौरान शराब (wine)की तस्करी (smuggling) हो रही थी. पुलिस की नज़र से बचने के लिए तस्कर प्लास्टिक के डिब्बों में कच्ची शराब (wine)भरकर ले जा रहे थे. पुलिस ने इनसे 250 डिब्बे ज़ब्त किए. उनमें 9हजार किलो महुआ लाहान भरा हुआ था.इसकी कीमत करीब 9 लाख रुपए है.

जिला आबकारी विभाग ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए 250 प्लास्टिक के डिब्बों में करीब 9 हजार किलो महुआ लाहान जब्त किया. इसकी कीमत 9 लाख रूपए आंकी गयी है.यह जब्ती चडौली के जंगल से की गयी जहाँ कच्ची शराब बनाई जा रही थी.

डिब्बों में लाहान
इस सम्बन्ध में जिला आबकारी अधिकारी अनिल सचान ने बताया कि टीम ने जावद तहसील के चडोली गांव के जंगल में दबिश दी तो वहां बड़े पैमाने पर कच्ची शराब बनाने के उपकरण और 250 प्लास्टिक के डिब्बे मिले. जब डिब्बे खोले गए तो देखकर टीम भी दंग रह गयी.डिब्बों में करीब 9 हजार किलो महुआ लाहान भरा हुआ था. लेकिन मौके पर कोई नहीं मिला. जो लोग इस काम को अंजाम दे रहे थे वे फरार हो गए.



महिलाओं ने की शिकायत


जिला आबकारी अधिकारी सचान ने बताया कि कच्ची शराब बनाने वालों के खिलाफ यह अभियान आगे भी जारी रहेगा. उन्होंने कहा सरकार द्वारा की गयी शराब बंदी का फायदा उठाकर कुछ लोग गांव में कच्ची शराब बनाने का धंधा कर रहे हैं. उनके बारे में विभाग जानकारी जुटा रहा है और इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

कच्ची शराब का लघु उद्योग
30 मई को नीमच में आपदा प्रबंध की बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष अवंतिका मेहर सिंह जाट ने कच्ची शराब का मुद्दा उठाया था. उन्होंने कहा था कि शराब बंदी का फायदा उठाकर गांव में बड़े पैमाने पर लोग हाथ भट्टी की शराब बनाकर बेच रहे हैं. इसकी शिकायत महिलाओं ने की है. कच्ची शराब बनाने का काम लघु उद्योग के रूप में चल रहा है. इस बैठक में सांसद सुधीर गुप्ता, विधायक दिलीप सिंह परिहार, ओम प्रकाश सखलेचा और माधव मारु भी मौजूद थे

धरपकड़ अभियान
लॉक डाउन के दौरान नीमच जिले सहित समूचे प्रदेश में शराबबंदी है. शराब बंदी के दौरान हाथभटटी कच्ची शराब बनाने का गोरखधंधा पूरे जिले में फैल चुका है. दर्जनों गांवों में ऐसे लोग पनप गए है, जो कच्ची शराब का नशा परोस रहे हैं. अब पुलिस प्रशासन और आबकारी विभाग ने इनकी धरपकड के लिए अभियान शुरू कर दिया है.

ये भी पढ़ें-COVID-19 : रोज हो रही है 2050 कोरोना सैंपल्स की जांच, जून तक 7000 का लक्ष्य

खजाना खाली है फिर भी जरूरतमंदों को शिवराज सरकार ने दी 6.5 हजार करोड़ ₹की मदद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading