Home /News /madhya-pradesh /

भावांतर योजना के नाम पर किसानों को ठग रहे व्यापारी, दे रहे फसल का आधा दाम

भावांतर योजना के नाम पर किसानों को ठग रहे व्यापारी, दे रहे फसल का आधा दाम


नीमच कृषि उपज मंडी में किसानों से फसल खरीदते व्यापारी.

नीमच कृषि उपज मंडी में किसानों से फसल खरीदते व्यापारी.

मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह सरकार द्वारा चलाई जा रही भावांतर भुगतान योजना किसानों से ज्यादा व्यापारियों के लिए फायदेमंद साबित हो रही है.

    मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह सरकार द्वारा चलाई जा रही भावांतर भुगतान योजना किसानों से ज्यादा व्यापारियों के लिए फायदेमंद साबित हो रही है. व्यापारी योजना लागू होने के बाद से किसानों को फसलों के आधे दाम देकर चांदी काट रहे हैं. वहीं किसान इस योजना के तहत मिलने वाली भावांतर की राशि किस आधार पर और कब मिलेगी, इसे लेकर असमंजस में हैं.

    जानकारी के अनुसार प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने फसलों के भाव सही नहीं मिलने से नाराज किसानों को खुश करने के लिए भावांतर योजना का शुभारंभ किया. अब तक किसानों को तो इस योजना का लाभ नहीं मिला, उलटे व्यापारी मंडी में भावांतर के रजिस्ट्रेशन वाली उपजों को कम बोली लगाते हुए खरीदी कर इसका बखूबी फायदा उठाने में लगे हैं. उड़द खरीदी में तो व्यापारी सबसे ज्यादा मनमानी कर रहे हैं. भावांतर की तय राशि के आधे ही दामों पर उड़द की खरीदी कर रहे हैं.

    बताया जा रहा है कि मंडी में व्यापारी किसानों से पहले ही भावांतर के रजिस्ट्रेशन की जानकारी ले लेते हैं. फिर उस उपज को बाजार भावों से कम में ही खरीदते हैं. किसान के पूछने पर उन्हें भावांतर में पूरा पैसा मिलने की बात कहते हुए बहकाते हैं. मंडी प्रशासन भी इस ओर गंभीर नहीं है. जब इस मामले पर मंडी अधिकारियों से बात की गई तो वे किसानो को ही भावांतर के तहत रजिस्ट्रेशन की बात किसी को नहीं बताने की सलाह देते नजर आए.

    Tags: Madhya pradesh news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर