बॉर्डर पर तस्करों के लिए काल बना ये पुलिस अफसर

राजस्थान की सीमा से लगे मध्य प्रदेश के सीमांत इलाके नीमच में इन दिनों पुलिस के ऑपरेशन शिकंजा से हड़कंप मचा हुआ है.

राजस्थान की सीमा से लगे मध्य प्रदेश के सीमांत इलाके नीमच में इन दिनों पुलिस के ऑपरेशन शिकंजा से हड़कंप मचा हुआ है.

  • Share this:
राजस्थान की सीमा से लगे मध्य प्रदेश के सीमांत इलाके नीमच में इन दिनों पुलिस के ऑपरेशन शिकंजा से हड़कंप मचा हुआ है. एसपी के नेतृत्व में चलाए जा रहे है इस ऑपरेशन में अब तक 209 मादक पदार्थों के तस्करों को धर दबोचा गया है.

दरअसल, अफीम उत्पादन के साथ मध्य प्रदेश का नीमच जिला ड्रग तस्करी के लिए भी बदनाम है. यहां हर साल पुलिस औसतन 30 से 40 तस्करों को ड्रग की तस्करी करते हुए पकड़ती आई है. लेकिन इस बार पुलिस का अंदाज और तेवर दोनों बदले हुए है.

एसपी तुषारकांत विद्यार्थी के जिले की कमान संभालने के बाद ही तस्करों के बुरे दिन शुरू हो गए है. पिछले कुछ महीने से शुरू हुए उनके 'ऑपरेशन शिकंजा' में ही अब तक 209 आरोपियों को मादक पदार्थों की तस्करी में धर दबोचा गया है. यह जिले में तस्करों के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है.

एसपी के इस अंदाज से पूरे अंचल में तस्करों में हड़कंप मचा हुआ है. इतना ही नहीं एसपी ने ऑपरेशन शिकंजा के तहत कई साल से फरार चल रहे 100 से ज्यादा तस्करों को भी गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया है. इनमें से कई आरोपी तो पिछले 15 से 20 साल से पुलिस के रिकॉर्ड में फरार थे.

एसपी विद्यार्थी का कहना है कि एनडीपीएस एक्ट को लेकर पूरी पारदर्शिता बरती जा रही है. उनका कहना है कि अमूमन कई बार ड्रग्स लेकर जाने वाले 'कैरियर' को तो पुलिस पकड़ लेती है, लेकिन इनसे तस्करी कराने वाले हार्डकोर क्रिमिनल पुलिस की नजर में बच जाते है. ऑपरेशन शिकंजा के तहत पुलिस ड्रग्स तस्करी के रैकेट से जुड़े हर बदमाश को धर दबोच रही है, जिसमें सप्लाई करने वाले से लेकर माल की डिलिवरी लेने वाला तक शामिल है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.