Home /News /madhya-pradesh /

गुजरात के बाद एमपी में भी पाटीदारों ने बढ़ाई BJP की टेंशन

गुजरात के बाद एमपी में भी पाटीदारों ने बढ़ाई BJP की टेंशन

मध्य प्रदेश के मालवा में आज सरदार पटेल की जयंती पर पाटीदार समाज ने जमकर दम दिखाया.

मध्य प्रदेश के मालवा में आज सरदार पटेल की जयंती पर पाटीदार समाज ने जमकर दम दिखाया.

मध्य प्रदेश के मालवा में आज सरदार पटेल की जयंती पर पाटीदार समाज ने जमकर दम दिखाया.

    मध्य प्रदेश के मालवा में आज सरदार पटेल की जयंती पर पाटीदार समाज ने जमकर दम दिखाया. पूरे अंचल से आए पाटीदार इससे पहले सरदार पटेल की जयंती कभी इतनी बड़ी ताकत में इकट्ठे नहीं हुए. इससे साफ़ है कि पटेल समाजज अब राजनैतिक दलों को अपना दम दिखाना चाहता है.

    दरअसल, मालवा पाटीदारों का गढ़ है पूरे प्रदेश में सर्वाधिक पाटीदार मालवा में ही रहते हैं. पाटीदार समाज के सूत्रों की माने तो मालवा में करीब चालीस लाख पाटीदार बसते हैं और प्रदेश में करीब सत्तर लाख पाटीदार समाज के लोग है और पूरे प्रदेश की 220 विधानसभा सीटों में 65 सीटे ऐसी है जिस पर पाटीदार समाज के वोट ताकत में है.

    एक ख़ास बात और यह की मंदसौर में हुए गोलीकांड में 6 पाटीदारों की मौत और उसके बाद पुलिस ने इस आंदोलन को लेकर 101 आपराधिक मुकदमे बनाए. जिसमें 200 लोग नामजद किए गए और करीब 100 अन्य थे इस प्रकार कुल 300 लोगो के खिलाफ मामले बने जिसमे पाटीदार समाज के लोगों सत्तर प्रतिशत थी. और इसी बड़ी संख्या में पाटीदारो पर मुकदमे बनने के बाद पाटीदारो में जोश आया उसके बाद पाटीदार नेता हार्दिक पटेल पहली बार मालवा में आए और उन्होंने मंदसौर के पिपलिया और शाजापुर में दो बड़ी रैलीया की जिसमे उन्होंने साफ़ तोर पर पाटीदारो को जाग जाने का आह्वान किया.

    आज सरदार पटेल की जयंती पर नीमच में करीब एक हज़ार टू व्हीलर और फॉर व्हीलर के साथ सैकड़ों पाटीदारों ने रैली की ये पाटीदार नीमच के 90 गाँवों से आये थे ठीक इसी तरह का शक्ति प्रदर्शन मंदसौर में हुआ वहा सरदार पटेल की चार मूर्तियों का अनावरण किया गया जिसमे दो मुर्तिया पिपलिया पंथ और जेतपुरा में बनाई गयी हैं जहां के पाटीदार किसान आंदोलन में मारे गए थे इन आयोजनों में सैकड़ों पाटीदार जुटे मंदसौर में तो इस बार पिछले चार दिनों से रैलियों का आयोजन चल रहा है.

    आज पाटीदार समाज के प्रदेशाध्यक्ष महेंद्र पाटीदार ने भी नीमच मंदसौर के कार्यक्रमों में शिरकत की जब हमने उनसे पूछा की इतनी बड़ी संख्या में पाटीदारो का निकलना क्या बताता है तो उनका जवाब था यह उत्तेजना किसान आंदोलन में शहीद हुए पाटीदारो के कारण है और इस आंदोलन के बाद पाटीदार समाज में आक्रोश है अब समाज ने बड़ी राजनैतिक शक्ति बनने की ठान ली है क्योकि वोटो की ताकत तो समाज के पास है.

    Tags: Madhya pradesh elections, Madhya pradesh news, Neemuch news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर