पेयजल की गंभीर समस्या से जूझ रही है नीमच की जनता

नीमच शहर को अमृत योजना के अंतर्गत लिए जाने के बाद नगर पालिका परिषद् ने बड़े बड़े दावे किए थे कि शहर में गर्मी तक रोजाना पीने के पानी की सप्लाई हो जाएगी. लेकिन शहरवासियों की पीने के पानी की गंभीर समस्या से जूझना ही पड़ रहा है. आज भी शहर में चार दिन में नल के माध्यम से नगर पालिका 15-20 मिनट के लिए पानी की सप्लाई करती है

Mustafa Hussain | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 16, 2018, 7:31 PM IST
पेयजल की गंभीर समस्या से जूझ रही है नीमच की जनता
नीमच में पेयजल समस्या से जूझते लोग
Mustafa Hussain
Mustafa Hussain | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 16, 2018, 7:31 PM IST
नीमच शहर को अमृत योजना के अंतर्गत लिए जाने के बाद नगर पालिका परिषद् ने बड़े बड़े दावे किए थे कि शहर में गर्मी तक रोजाना पीने के पानी की सप्लाई हो जाएगी. लेकिन शहरवासियों की पीने के पानी की गंभीर समस्या से जूझना ही पड़ रहा है. आज भी शहर में चार दिन में नल के माध्यम से नगर पालिका 15-20 मिनट के लिए पानी की सप्लाई करती है, जो शहरवासियों के लिए पर्याप्त नहीं है. ऐसे में इन्हें पानी के लिए सार्वजनिक स्त्रोतों की और मुंह करना पड़ ही रहा है.

नीमच को अमृत योजना अंतर्गत लिए जाने के बाद नगर पालिका की परिषद् ने शहर की जनता को 15 करोड़ रुपये नई पानी की पाईप लाईन डाल रोजाना पीने का पर्याप्त पानी इसी गर्मी में शहर की जनता को दिए जाने का दावा किया था. लेकिन आज भी शहर की जनता प्यासी ही है. चार दिन में एक बार पीने का पानी इन्हें मिलता है जो एक सामान्य परिवार में भी पूरा नहीं हो पाता है.

अगर बड़ा परिवार है तो वहां यह पानी एक दिन भी नहीं चलता है ऐसे में जनता यहां वहा अपने पिने के पानी की व्यवस्था को लेकर भटक रही है लेकिन नगर पालिका के जिम्मेदार जनप्रतिनिधि अब भी सिर्फ शहरवासियों को जल्द पीने के पानी की सुचारु व्यवस्था किए जाने का आश्वासन ही देने में लगे हैं.






पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर