लाइव टीवी

स्‍नैक्‍स के पैकेट से निकले खिलौने को खाने से बच्‍चे की मौत, खाद्य विभाग की छापेमारी से मचा हड़कंप

Mustafa Hussain | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 14, 2019, 8:28 PM IST
स्‍नैक्‍स के पैकेट से निकले खिलौने को खाने से बच्‍चे की मौत, खाद्य विभाग की छापेमारी से मचा हड़कंप
बच्‍चे की मौत के बाद खाद्य विभाग ने शुरू की कार्रवाई.

मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) के नीमच में स्नैक्स के पैकेट में निकले खिलौने को खाने की वजह से एक तीन साल के बच्चे की मौत का मामला सामने आया है. इसके बाद खाद्य विभाग ने ताबड़तोड़ कार्रवाई शुरू कर दी है.

  • Share this:
नीमच. आपके घर में छोटे बच्चे हैं और वे बाजार के कुछ चटपटे स्नैक्स खाते हैं तो ये खबर आपके लिए खासी महत्वपूर्ण है. जी हां, मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) के नीमच में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें पाउच में पैक स्नैक्स (Snacks) खाने की वजह से मासूम बच्चे की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि एक नॉन ब्रांडेड स्नैक्स के अंदर निकलने वाले प्लास्टिक (Plastic) के खिलौने को खाने की चीज समझ कर निगल जाने के चलते तीन वर्षीय बच्चे की मौत हो गई है. इस घटना को लेकर परिजनों में खासा आक्रोश है और परिजनों ने पूरे मामले की शिकायत भी की है. जबकि शिकायत के बाद जिला प्रशासन (District Administration) ने नीमच के ऐसे ही नॉन ब्रांड बच्चों के फ़ूड आइटम के प्लांट पर ताबड़तोड़ छापेमारी शुरू कर दी है. इस दौरान उसने बड़ी तादात में इन खाद्य पदार्थों के साथ ही प्लास्टिक के खिलौने, जोकि पैकेट में डाले जाते हैं उनको जला कर नष्ट करवाया है. जबकि एक कंपनी  के 5 हज़ार पाउच भी जब्‍त किये गए हैं.

यहां से जुड़ा है मामला
ये मामला नीमच जिले के केनपुरिया गांव का है जहां तीन साल के रोहित बंजारा ने अपने ही गांव में आए फेरीवाले से बच्चों के खाद्य पदार्थ खरीदे. जबकि वह स्‍नैक्‍स के प्लास्टिक की सीटी को भी निगल गया, जो उसके गले में अटक गई. ऐसे में जब रोहित को दिक्कत हुई तो परिजन उसे तत्काल नीमच के निजी नर्सिंग होम लाए जहां डॉक्टर ने सीटी निकालने की खूब कोशिश की लेकिन वह बाहर नहीं आयी और बच्‍चे ने दम तोड़ दिया.

फिर शुरू हुई छापेमारी...

रोहित के परिवार ने मामले की शिकायत पुलिस के साथ ही खाद्य विभाग में भी की और इसके बाद खाद्य निरीक्षक ने नीमच की ग्वालटोली स्थित विश्वास फूड्स पर छापा मारा. इस दौरान बिना नाम पते के खाद्य पदार्थ पैक किए जा रहे थे, जिनमें प्लास्टिक के खिलोने भी डाले गए थे. इन खिलोनों को अधिकारियों ने तत्काल ही जब्‍त कर नष्ट करवा डाला. जबकि कई सैंपल भी लिए हैं.

मृतक के पिता ने कही ये बात
मृतक रोहित के पिता शौकीन बंजारा ने बताया कि गांव में फेरीवाला यह पाउच बेचने आया था और रोहित ने जिद की तो उसे दिलवा दिया. जब उसने यह स्‍नैक्‍स खाए तो वह जोर-जोर से खांसने के अलावा रोने लगा. इसके बाद उसे नीमच लाया गया, लेकिन डॉक्‍टर उसके गले में फंसी सीटी नहीं निकाल पाए और उसकी मौत हो गई. इसके बाद मैंने मामले की शिकायत पुलिस भी की.
Loading...

अधिकारी ने कही ये बात
खाद्य सुरक्षा एवम ओषधि प्रशासन जिला अधिकारी संजीव मिश्रा ने बताया कि शिकायत प्राप्त होने पर विश्वास फूड्स नामक फर्म बंगाली कॉलोनी, ग्वालटोली पर जांच की गई तो वहां 5 मशीनों से यह पैक हो रहे थे. जांच के दौरान पैकेट्स पर निर्माता का नाम, पता, बैच नंबर, पैकिंग दिनांक आदि अंकित नहीं था. सभी में एक ही माल पैक किया जा रहा था, लेकिन रेपर पर नाम अलग-अलग थे. मालामाल स्नैक्स, कड़ी में कचोरी स्नैक्स, मैंं भी हूं चौकीदार, JPBG स्नैक्स आदि में प्लास्टिक छोटे खिलोने डाले गए थे. पैकेट के नमूने लेने के बाद 1800 पैकेट जला कर नष्ट कराए गए हैं, जिस पर मूल्य 9000Rs था.
मुख्य खाद्य निरीक्षक संजीव मिश्रा ने बताया कि आज कम्पनी के 5 हज़ार पाउच जब्‍त कर उनके नमूने लिए गए. इन पाउच में टॉय रुपी गोल गेंदें हैं, जिसे बच्चे खाद्य पदार्थ के साथ गटक जाते हैं. इस पूरे मामले में राज्य औषधि प्रशासन विभाग को भी सूचना दे दी गयी है और विभाग ने प्रदेश स्तर पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.

ये भी पढ़ें-

कमलनाथ के मंत्री ने दिग्‍विजय सिंह के भाई को दी नसीहत, बोले-उनके बाल गायब हो गए लेकिन...
इस वजह से शिवराज के धाकड़ मंत्री जयभान सिंह पवैया को मिली थी हार, ऐसे हुआ खुलासा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नीमच से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 14, 2019, 6:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...