अपना शहर चुनें

States

एनजीटी ने सिवनी के बायो मेडिकल वेस्ट प्लांट पर 10 लाख का जुर्माना लगाया

एनजीटी में याचिका दाखिल करने वाले मनीष शर्मा.
एनजीटी में याचिका दाखिल करने वाले मनीष शर्मा.

बायो मेडिकल वेस्ट को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने सख्त रुख अपनाया है. नागरिक उपभोक्ता मंच की याचिका पर एनजीटी ने इससे जुड़े नियम का उल्लंघन करने पर सिवनी के बायो मेडिकल वेस्ट प्लांट पर 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाने के साथ कंपनी पर प्रतिबन्ध भी लगा दिया है.

  • Share this:
बायो मेडिकल वेस्ट को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने सख्त रुख अपनाया है. नागरिक उपभोक्ता मंच की याचिका पर एनजीटी ने इससे जुड़े नियम का उल्लंघन करने पर सिवनी के बायो मेडिकल वेस्ट प्लांट पर 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाने के साथ कंपनी पर प्रतिबन्ध भी लगा दिया है.

मंच ने एनजीटी में याचिका दायर कर मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में बायो मेडिकल वेस्ट से जुड़े नियमों का पालन न होने की जानकारी दी थी.

याचिका पर सुनवाई करते हुए ट्रिब्यूनल ने तीनों राज्यों की सरकारों एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से संशोधित नियम 2016 के पालन की स्टेटस रिपोर्ट मांगी थी.



याचिकाकर्ता मनीष शर्मा ने बताया कि एनजीटी के निर्देश के बाद केवल राजस्थान सरकार ने राज्य में बायो मेडिकल वेस्ट के कलेक्शन, परिवहन और रिसाइक्लिंग संशोधित नियम 2016 को लागू करने संबंधी स्टेटस रिपोर्ट पेश की.
मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ राज्य ने अपनी स्टेटस रिपोर्ट पेश नहीं की. जिस पर एनजीटी ने दोनों राज्यों को कड़ी फटकार लगाई है.

गौरतलब है कि जुलाई 2016 से देश भर के अस्पतालों, नर्सिंग होम्स, वेटनरी हॉस्पिटलों, डॉक्टरों की क्लिनिकों एवं दवा विक्रेताओं के यहां से निकलने वाले बायो मेडिकल वेस्ट के रिसाइक्लिंग और डिस्पोजल प्लांट के संचालन के संदर्भ में संशोधित बायो मेडिकल वेस्ट रूल्स 2016 लागू किया गया है.

मामले की अगली सुनवाई 26 जून को है, जिसमें मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ राज्य को अनिवार्य रूप से स्टेटस रिपोर्ट पेश करने निर्देश दिए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज