लाइव टीवी

नीलामी के बीच नायाब हीरा लेकर पहुंचा मजदूर, जानें अभी क्यों नहीं बदली किस्मत

Sanjay Tiwari | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 18, 2019, 6:07 PM IST
नीलामी के बीच नायाब हीरा लेकर पहुंचा मजदूर, जानें अभी क्यों नहीं बदली किस्मत
खदान से हीरा लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचा आदिवासी युवक रमेश

पन्ना (Panna) में उथली खदानों से मिले हीरों (Diamond) की तीन दिन से नीलामी चल रही थी. इसी बीच खदान (Mine) से एक आदिवासी मजदूर को नायाब हीरा मिल गया. उसे लेकर वह नीलामी स्थल पर पहुंच भी गया पर उसे अपनी किस्मत बदलने के और इंतजार करना होगा.

  • Share this:
पन्ना. बुंदेलखंड में पन्ना की धरती इन दिनों बड़ी संख्या में हीरे उगल रही है. यह बात गुरुवार को भी उस समय साबित हुई जब हीरों की नीलामी ( diamond auction) का अंतिम दौर चल रहा था. उसी समय एक गरीब आदिवासी मजदूर (labour) रमेश को यहां की सकरिया चोपरा में उथली खदान से 7 कैरेट 68 सेंट का बड़ा हीरा मिला. ये युवक इस नायाब हीरे को लेकर सीधे पन्ना के नए कलेक्ट्रेट भवन में हो रही नीलामी स्थल पर पहुंच गया. उस हीरे को हीरा कार्यालय के वैल्यूअर ने जांचा परखा और नाप तौल कर जमा कर लिया.

मजदूर को अगली नीलामी तक करना होगा इंतजार
दिवाली के मौके पर मिले इस हीरे ने रमेश की किस्मत को तो चमका दिया है, लेकिन इस गरीब आदिवासी मजदूर को हीरे की कीमत पाने के लिए अगली हीरा नीलामी तक इंतजार करना होगा. करीब 2 माह बाद फिर हीरों की नीलामी होगी. प्रदेश में मात्र पन्ना जिले की धरती ही एक ऐसी जगह है जहां रातों-रात चंद पलों में ऐसे गरीब मजदूर लखपति-करोड़पति बन जाते हैं.

15 से 17 अक्टूबर तक चली नीलामी में देश भर से जुटे थे हीरा व्यापारी 

पन्ना में उथली खदानों से प्राप्त हीरों की नीलामी 15 अक्टूबर से 17 अक्टूबर तक चली. तीन दिनों तक चली नीलामी गुरुवार को ही समाप्त हो गई. इस नीलामी में 224 हीरे रखे गए थे जिसमें से 81 हीरे ही बिक सके.  इनसे 35 लाख 10 हजार 480 रुपए मिले. नीलाम हुए हीरो में सबसे बड़ा हीरा 5.68 कैरेट का रहा जो कि 14 लाख 20 हजार 630 रुपए में बिका. बिके हुए हीरो की सरकारी रॉयल्टी काटकर इसकी रकम हीरा मालिकों को जल्द ही दे दी जाएगी. पेंडिंग रहे हीरो को अगले 2 माह के अंदर पुनः नीलामी के लिए रखा जाएगा. इस नीलामी में 10 बड़े नायाब हीरे भी रखे गए थे जिन्हें खरीदने के लिए दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, सूरत, अहमदाबाद, जयपुर, इंदौर जैसे कई शहरों से हीरा व्यापारी आए थे.

अपना हीरा दिखाता आदिवासी रमेश


हीरा व्यापारियों के लिए इस नीलामी में 29.46 कैरेट और 18.13 कैरेट के दो बड़े नायाब हीरे रहे जो कि किसी भी व्यापारी को नहीं मिल सके. 29. 46 के बड़े हीरे की अधिकतम बोली 3 लाख 10 हजार प्रति कैरेट तक बोली गई. दूसरे बड़े हीरे 18.13 कैरेट के हीरे की अधिकतम अंतिम बोली 4 लाख प्रति कैरेट तक बोली गई, फिर भी इन बड़े हीरों को पन्ना के हीरा अधिकारी ने उच्चतम बोली न आने के कारण पेंडिंग रख दिया.
Loading...

ये भी पढ़ें- 
एमपी में निवेश का माहौल बनाने पर सीएम कमलनाथ ने किया मंथन
दुष्कर्म पीड़िता बेटी को न्याय न दिला पाने से हताश पिता ने मौत को गले लगाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पन्‍ना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 18, 2019, 9:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...