लाइव टीवी

वन कर्मचारियों की हड़ताल के चलते तेंदुआ, भालू और चीतल का हुआ शिकार

DILIP KUMAR | News18 Madhya Pradesh
Updated: May 31, 2018, 5:34 PM IST
वन कर्मचारियों की हड़ताल के चलते तेंदुआ, भालू और चीतल का हुआ शिकार
दक्षिण वन मंडल पन्ना अंतर्गत आने वाले वन परिक्षेत्र पवई में तेंदुआ, भालू और हिरन के अवशेष पाए गए. डीएफओ द्वारा भालू और तेंदुआ के शिकारियों को जल्द पकड़ने का दावा किया जा रहा है.

दक्षिण वन मंडल पन्ना अंतर्गत आने वाले वन परिक्षेत्र पवई में तेंदुआ, भालू और हिरन के अवशेष पाए गए. डीएफओ द्वारा भालू और तेंदुआ के शिकारियों को जल्द पकड़ने का दावा किया जा रहा है.

  • Share this:
दक्षिण वन मंडल पन्ना अंतर्गत आने वाले वन परिक्षेत्र पवई में एक तेंदुए सहित तीन वन्य प्राणियों के अवशेष पाए गए. शिकारपुरा बीट के पास स्थित तलैया में एक तेंदुए का शव क्षत-विक्षित अवस्था में पाया गया. चांदा घाटी के नीचे डैम के पास एक व्यस्क भालू का शव मिला. वहीं पवई के बेंदीहार के पास एक चीतल जंगली कुत्तों का शिकार हो गया.इन जंगली जानवरों का शिकार किसने किया है. यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है.

इस घटना से वन विभाग में हड़कंप मच गया है. विभाग द्वारा अब डॉग स्क्वायट की मदद से जानवरों के शिकार करने वाले शिकारियों को तलाशा जा रहा है.पन्ना में शिकार का ये कोई पहला मामला नहीं है. इससे पहले भी पन्ना के जंगलों में जंगली जानवरों के शिकार की खबरे आए दिन सामने आती रहती हैं. पिछले एक साल में इस क्षेत्र में तीन तेंदुओं का शिकार होना वन्य प्रेमियों के लिए चिंता जा विषय बन गया है.

इस पूरे मामले मे दक्षिण वन मंडलाधिकारी मीना मिश्र का कहना है कि भालू और तेंदुआ का अवैध तरीके से शिकार करना प्रथम दृष्टया प्रतीत हो रहा है.भालू और तेंदुआ के शव लगभग 15 दिन पुराने प्रतीत हो रहे हैं . इससे लगता है  कि कर्मचारियों के हड़लात पर जाने के पहले ही इनका शिकार किया गया है. वहीं चीतल का शिकार जंगली कुत्तों द्वारा किया गया है. डीएफओ द्वारा भालू और तेंदुआ के शिकारियों को जल्द पकड़ने की बात कही जा रही है.

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पन्‍ना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 31, 2018, 5:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...