ट्रांसफर के नाम पर ले रहा था 10 हजार की रिश्वत, देखें इस तरह हुआ गिरफ्तार

पन्ना जिले के शिक्षा विभाग में अटैच शिक्षक रमाशंकर रैकवार को एक शिक्षक का ट्रांसफर करने के लिए 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया है.

Sanjay Tiwari | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 22, 2019, 1:50 PM IST
Sanjay Tiwari
Sanjay Tiwari | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 22, 2019, 1:50 PM IST
तमाम प्रयासों के बाद भी सरकारी विभागों में रिश्वतखोरी रुकने का नाम नहीं ले रही है. ताजा मामला मध्य प्रदेश के पन्ना जिले के शिक्षा विभाग का है, जहां एक शिक्षक का स्थानांतरण रोकने के एवज में विभाग में अटैच शिक्षक रमाशंकर रैकवार 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया. सागर लोकायुक्त की टीम ने उसे रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया. शिक्षक अरविंद द्विवेदी ने सागर लोकायुक्त कार्यालय में शिकायत की थी कि शिक्षा विभाग में अटैच रमाशंकर रैकवार पदस्थापना सलेहा करने के एवज में 10 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहे हैं जबकि 10 हजार रुपए पहले ही रिश्वत दे दिए गए थे. आरोपी रमाशंकर रैकवार अपने ऊपर लगे सारे आरोपों को नकार दिया है.

रिश्वतखोर रमाशंकर रैकवार का हाथ केमिकल लगे नोट से रंग गया. प्रमाण के तौर पर लिया गया सैंपल


उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ नहीं था और न ही मैंने कोई रिश्वत ली है. मेरे घर में कोई रिश्वत का लिफाफा डाल गया है. सागर लोकायुक्त के डीएसपी राजेश बड़े का कहना है कि भ्रष्टाचार अधिनियम की धारा- 7 के तहत कार्रवाई की गई है और आरोपी शिक्षक को रंगे हाथ पकड़ा गया है. हाथ धुलाने पर उनके हाथों का रंग लाल हो गया है सीधे-सीधे रिश्वत हाथ में दी गई थी. पन्ना के जिला शिक्षा अधिकारी महेंद्र दुबे को इसी तरह के रिश्वत मामले में सजा हो चुकी है. हर वर्ष शिक्षा विभाग का कोई न कोई कर्मचारी या अधिकारी लोकायुक्त के हत्थे चढ़ता है फिर भी रिश्वतखोरी बंद नहीं हो रही है.

ये भी पढ़ें- ये लोग इंद्रदेव को यातना दे रहे हैं ताकि उनका दम घुटने लगे..

ऐक्ट्रेस से ब्यूटी क्लिनिक ऑनर ने किया चार साल तक रेप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पन्‍ना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 22, 2019, 1:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...