क्या है पन्ना टाइगर रिजर्व के पितामह कहे जाने वाले T3 बाघ की दर्द भरी दास्तां...

जिस बाघ ने पन्ना टाइगर रिजर्व के बाघों का संसार बसाया हो और जिस बाघ का 52 बाघों का संसार बसाने में विशेष योगदान रहा हो. आज वही बाघ T3 अपना आशियाना बचाने के लिए अपनी ही संतानों से आपसी लड़ाई करने को मजबूर है.

Sanjay Tiwari | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 18, 2019, 3:34 PM IST
क्या है पन्ना टाइगर रिजर्व के पितामह कहे जाने वाले T3 बाघ की दर्द भरी दास्तां...
पन्ना टाइगर रिजर्व का भीष्म पितामह कहा जाने वाला 17 वर्ष का हो चुका टी3 बाघ जीवन के अंतिम पड़ाव पर अपनी ही संतानों के द्वारा खदेड़ा जा रहा जा है
Sanjay Tiwari
Sanjay Tiwari | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 18, 2019, 3:34 PM IST
जिस बाघ ने पन्ना टाइगर रिजर्व के बाघों का संसार बसाया हो और जिस बाघ का 52 बाघों का संसार बसाने में विशेष योगदान रहा हो. आज वही बाघ T3 अपना आशियाना बचाने के लिए अपनी ही संतानों से आपसी लड़ाई करने को मजबूर है. दरअसल यह वह बाघ है जो 7 नवंबर 2010 को पेंच टाइगर रिजर्व से पन्ना लाया गया था और इसी ने पन्ना टाइगर रिजर्व को देश में वह पहचान दी जो बाघ पुनर्स्थापना योजना में मील का पत्थर साबित हुई है. पेंच टाइगर रिजर्व से पंन्ना टाइगर रिजर्व  लाए गए बाघ का नाम टी3 रखा गया. इसे टाइगर रिजर्व का भीष्म पितामह भी कहां जाता है.

पन्ना टाइगर रिजर्व, Panna Tiger Reserve
पन्ना टाइगर रिजर्व के पितामह अब अपनी ही संतानों के द्वारा खदेड़े जा रही जा रहे हैं (फाइल फोटो)


शुरुआती दिनों में यह पन्ना टाइगर रिजर्व से निकलकर कई बार अपने पुराने आशियाने में जाने की कोशिश करता था लेकिन पूर्व प्रबंधन और फील्ड डायरेक्टर मूर्ति की अथक मेहनत के कारण आखिरकार इसने इस टाइगर रिजर्व को ही अपना आशियाना बना लिया. इसने तीन बाघिनों की मदद से 52 शावकों को जन्म दिया. आज जो बाघ इस टाइगर रिजर्व में मौजूद है वह देश-विदेश के पर्यटकों को टाइगर रिजर्व की ओर आकर्षित करते हैं.

पन्ना टाइगर रिजर्व, Panna Tiger Reserve
बाघ अपने शावकों के साथ ( फाइल फोटो)


वैसे तो इस बाघ ने अन्य बाघिनों की मदद से 72 से अधिक शावकों को जन्म दिया लेकिन कुछ टाइगर रिजर्व को छोड़ कर चले गए. लेकिन जो बाघों का संसार इस समय पन्ना टाइगर रिजर्व में मौजूद है उनकी संख्या अभी 52 के करीब है. पन्ना टाइगर रिजर्व के अधिकारियों का कहना है कि अब T3 बाघ यानी पन्ना टाइगर रिजर्व का भीष्म पितामह अब जिंदगी के अंतिम पड़ाव पर है और इसे प्रकृति का नियम ही कहें कि जिस बाघ ने अपनी संतानों को लड़ना, शिकार करना सिखाया आज वही संतान उसको इस टाइगर रिजर्व से खदेड़ रही हैं. आखिर अब इस टाइगर रिजर्व के भीष्म पितामह बूढ़े जो हो गए हैं.

ये भी पढ़ें- VIDEO: पन्ना की भैरव घाटी में फिर दिखे टाइगर महाराज

ये भी पढ़ें- पर्यटकों की बढ़ती संख्‍या से टेंशन में है जंगल का राजा, रिपोर्ट में हुआ चौंकाने वाला खुलासा
First published: July 18, 2019, 3:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...