गायों का शिकार करने वाले बाघ से गांव वालों को ऐसे मिली राहत

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: October 12, 2017, 4:28 PM IST
गायों का शिकार करने वाले बाघ से गांव वालों को ऐसे मिली राहत
पिछले तीन दिनों से पन्ना के विक्रमपुर में बाघ ने एक खेत में डेरा जमा रखा था

पिछले तीन दिनों से पन्ना के विक्रमपुर में बाघ ने एक खेत में डेरा जमा रखा था

  • Share this:
मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में दो गायों का शिकार बनाने वाले बाघ को रेस्क्यू टीम टीम ने जंगल की ओर खदेड़ दिया.

दरअसल, पिछले तीन दिनों से पन्ना के विक्रमपुर में बाघ ने एक खेत में डेरा जमा रखा था. इस दौरान उसने दो गायों को अपना शिकार भी बनाया था. इससे ग्रामीणों में दहशत फैली हुई थी.

उधर टाइगर रिसर्व की रेस्क्यू टीम भी 3 दिनों से विक्रमपुर में टाइगर की निगरानी में तैनात थी. लेकिन टाइगर खेत से बहार नहीं निकल रहा था. काफी मशक्कत के बाद हाथियों की रेस्क्यू टीम द्वारा किसी तरह बाघ को खेत से निकालकर जंगल की और खदेड़ा गया.

पन्ना टाइगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक का कहना है कि 19 महीने का बाघ पन्ना टाइगर रिजर्व की सीमा से बाहर निकल कर विक्रमपुर गांव में अरहर के खेत मे घुस गया था. उन्होंने कहा कि कई बाघ अपना नया आवास ढूंढने के उद्देश्य से टाइगर रिजर्व की सीमा से बाहर निकल आते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पन्‍ना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 12, 2017, 4:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...