भूमाफियाओं के खिलाफ शिकायतों से खुला जबलपुर पुलिस का खाता, पहले दिन 7 FIR
Jabalpur News in Hindi

भूमाफियाओं के खिलाफ शिकायतों से खुला जबलपुर पुलिस का खाता, पहले दिन 7 FIR
जबलपुर में भूमाफियाओं के खिलाफ शिकायतों से हुई नए साल की शुरूआत

भूमाफियाओं (Land Mafia) को लेकर ज़िला प्रशासन (Administration) सख्त हो चला है. जबलपुर में तो साल के पहले ही दिन पुलिस ने 7 FIR दर्ज की हैं. खास बात ये है कि तमाम सख्तियों के बावजूद साल की शुरूआत में ही इतने मामले दर्ज होना ये भी बताता है कि जबलपुर में भूमाफियाओं के हौसले कितने बुलंद हैं

  • Share this:
जबलपुर. मध्य प्रदेश के जबलपुर (Jabalpur) शहर में जिला एवं पुलिस प्रशासन द्वारा भू माफियाओं के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है. पुलिस के रोजनामचे में 2020 की शुरूआत में ही धोखाधड़ी के प्रकरणों से खाता खोला गया. भूमाफियाओं के मकड़जाल में फंसे पीड़ितों की शिकायतों पर गोहलपुर, अधारताल और संजीवनी नगर थाने में 7 एफआईआर दर्ज की गई हैं.

एक प्लाट कई लोगों को बेच डाला
गोहलपुर थाने में आनंद नगर सरफाबाद निवासी मोहम्मद शफीक ने 9 नवम्बर 2018 में केबीसी कंस्ट्रक्शन के संचालक कलीमुद्दीन निवासी न्यू आनंदनगर सरफा बाद से 9 लाख रुपए में एक डुप्लेक्स अपनी पत्नी के नाम पर लिया था, जिसके 7 लाख रूपये दिये थे, शेष राशि 2 लाख रूपये डुप्लेक्स कम्पलीट होने पर 4 माह के अंदर देने का एग्रीमेंट किया गया था. पैसे देने के बाद भी जब डुप्लेक्स कंप्लीट नहीं हुआ तो शफीक को दूसरा डुप्लेक्स देकर 12 जुलाई 2019 को उसकी रजिस्ट्री करा दी गई. एक माह बाद ही किसी दूसरे व्यक्ति ने उक्त डुप्लेक्स पर कब्जा कर लिया. शफीक ने जब जानकारी हासिल की तो पता चला कि कलीमुद्दीन ने एक ही प्लाट कई लोगों को बेचा है, जिसपर बाद में डुप्लेक्स बना दिया. ये जानकारी लगते ही उसने पुलिस में कलीमुद्दीन के खिलाफ प्रकरण दर्ज करा दिया.

एक जमीन 2 लोगों को बेच दी
अधारताल थाने में नेपियर टाउन कचनार रेसीडेंसी निवासी हिमांशु गुप्ता ने दर्ज कराई कि उसने रविन्द्र नगर निवासी रजनीकांत तिवारी से अधारताल के खैरी में दो प्लाट 15 लाख रुपए में खरीदे, जिसकी 18 माह के अंदर रजिस्ट्री होनी थी, बाद में जब हिमांशु गुप्ता ने रजिस्ट्री के लिए कहा तो रजनीकांत टालमटोल करता रहा, पता चला कि रजनीकांत उक्त प्लाट पहले ही किसी और को बेच चुका है.



संजीवनी नगर थाने में 4 प्रकरण दर्ज
संजीवनी नगर थाने में धनवतंरी नगर एलआईजी निवासी राजेश कुमार लखेरा ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि परसवाड़ा में 3 हजार वर्गफीट जमीन अभिषेक तिवारी, संजीव व बलराम पांडेय से 11 लाख 25 हजार रुपए खरीदी, बाद में तीनों ने दूसरी किसी जमीन की रजिस्ट्री करा दी. राजेश कुमार लखेरा ने जब कब्जे की बात कही तो तीनों ने धमकी देना शुरू कर दिया. पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है. इसी प्रकार संजीवनी नगर थाने में ही तीन अलग-अलग प्रकरणों में भू-माफियाओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

किसी भी माफिया को बख्शा नहीं जाएगा
एसपी अमित सिंह का कहना है कि उनके पास भूमाफियाओं के संबंध में लगातार शिकायतें आ रही थीं जिनकी जानकारी जुटाई गई. उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार माफियाओं के खिलाफ बेहद सख्त है. पीड़ितों की ओर से मिली शिकायतों को दर्ज करने के साथ ही इनकी जांच शुरू कर दी गई है. संगठित रूप से अपराध करने वाले ऐसे अपराधियों के खिलाफ पुलिस और प्रशासन दोनों ही सख्ती से निपटने के लिए तैयार हैं, किसी भी अपराधी को बख्शा नहीं जाएगा.

ये भी पढ़ें -
युवती ने खाली फ्लैट में युवकों को बुलाया और फिर फर्ज़ी CID अफसरों ने लूट लिया
चंबल के बाद मालवा भी ठंड और कोहरे में लिपटा, इंदौर के बजाए अहमदाबाद में प्लेन की लैंडिंग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading