हनी ट्रैप मामलाः प्रमुख सचिव भी खेल में शामिल, बिल्डर और गैंग के साथ मिल करता था ब्लैकमेलिंग का धंधा!
Indore News in Hindi

हनी ट्रैप मामलाः प्रमुख सचिव भी खेल में शामिल, बिल्डर और गैंग के साथ मिल करता था ब्लैकमेलिंग का धंधा!
हनी ट्रैप मामले में प्रमुख सचिव, बिल्डर और गैंग के सदस्यों के इस गठजोड़ की शिकायत सीएम कमलनाथ से की गई है. (फाइल फोटो)

हाईप्रोफाइल हनी ट्रैप मामले (Honey Trap Case) में प्रमुख सचिव का नाम सामने आने से मचा बवाल. प्रमुख सचिव (Principal secretary) की मदद से बिल्डर और हनी ट्रैप गैंग करता था ब्लैकमेलिंग का धंधा. सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) से की गई प्रमुख सचिव, बिल्डर और गैंग की साठ-गांठ की शिकायत.

  • Share this:
भोपाल. मध्यप्रदेश के हनी ट्रैप कांड में जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही है वैसे ही कई बड़े नाम इसमें सामने आते दिख रहे हैं. अब शनिवार को सरकार में कार्यरत एक प्रमुख सचिव का नाम भी सामने आया है, जो ग्वालियर के एक बिल्डर और हनी ट्रैप गैंग के सदस्यों के साथ मिलकर सीनियर IAS अफसरों के वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करता रहा है. हनी ट्रैप मामले में प्रमुख सचिव, बिल्डर और गैंग के सदस्यों के इस गठजोड़ की शिकायत सीएम कमलनाथ से की गई है. इस बाबत मुख्यमंत्री को शिकायती पत्र भी भेजा गया है, इस पत्र की एक कॉपी News 18 के पास भी मौजूद है.

कृषि मंत्रालय में बड़े कारनामे
प्रमुख सचिव, बिल्डर और गैंग की गठजोड़ का खुलासा होने के बाद हनी ट्रैप मामला और भी सुर्खियों में आ गया है. दरअसल, सीएम कमलनाथ को दिए गए शिकायती पत्र में कहा गया है कि कृषि मंत्रालय में सक्रिय रहा यह गठजोड़ सरकार के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को फंसाने और उन्हें ब्लैकमेल करने का धंधा चलाता था. सीनियर IAS अफसरों को फंसाने या विभाग के सरकारी आदेशों के जरिए लोगों को ब्लैकमेल करने में यह गैंग सक्रिय थी. बताया गया है कि इस गैंग ने सीनियर IAS अफसर का अश्लील वीडियो भी बनाया था. मंत्रालय के एक प्रमुख सचिव के साथ ग्वालियर के बिल्डर और हनी ट्रैप गैंग में शामिल आरोपी दंपत्ति, अधिकारियों को ब्लैकमेल करते थे. मंत्रालय में बिल्डर, आरोपी दंपत्ति के साथ दिनभर घूमता रहता था। NEWS 18 के पास शिकायत की कॉपी और गैंग में शामिल लोगों की तस्वीर भी है, जिसमें प्रमुख सचिव का भी फोटो है.

सीएम से की गई शिकायत






  • हनी ट्रैप गैंग ने सबसे ज्यादा कृषि विभाग में ट्रांसफर-पोस्टिंग के साथ व्यापारी और कंपनियों को करोड़ों का सरकारी काम दिलाया.

  • ग्वालियर का बिल्डर प्रमुख सचिव के हैं पारिवारिक मित्र.

  • शिकायत में दो मोबाइल नंबरों पर हुई बातचीत की जांच की मांग.

  • मंत्रालय में लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच करने की मांग.

  • विभागीय आदेश की कॉपी दिखा कर अधिकारी-कर्मचारियों के साथ कंपनी, व्यापारियों समेत कई लोगों को किया है ब्लैकमेल.

  • मंत्रालय के एक प्रमुख सचिव ने ग्वालियर के बिल्डर के साथ रची थी सीनियर IAS अफसर का वीडियो बनाने की साजिश.

  • ग्वालियर के बिल्डर ने एक पुरुष आरोपी की पत्नी से बनवाया था सीनियर IAS का अश्लील वीडियो.


अधिकारी की मदद से बनाई पैठ
हनी ट्रैप गैंग के सदस्य इस प्रमुख सचिव के पास अक्सर देखे जाते थे. उनका आपस में उठना-बैठना आम था. बताया गया कि प्रमुख सचिव की मदद से गैंग ने मंत्रालय के दूसरे विभागों में अपनी पैठ जमा ली थी. वहां भी इसी तरह से वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मिलकर ब्लैकमेलिंग के साथ ट्रांसफर-पोस्टिंग और लोगों को सरकारी काम दिलाने का धंधा चल रहा था.

ये भी पढ़ें - 

EXCLUSIVE: SIT के रडार पर हनी ट्रैप के साजिशकर्ता, कमलनाथ सरकार जल्द ले सकती है बड़ा फैसला

Honey Trap : CM कमलनाथ तक पहुंचा DGP और STF स्पेशल DG का विवाद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading