लाइव टीवी

MP: सिंधिया समर्थक MLA विधानसभा परिसर में धरने पर, सरकार पर लगाया ये आरोप
Gwalior News in Hindi

Anurag Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 18, 2020, 1:24 PM IST
MP: सिंधिया समर्थक MLA विधानसभा परिसर में धरने पर, सरकार पर लगाया ये आरोप
कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल विधानसभा परिसर में धरने पर बैठे

कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल का आरोप है कि कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) में वचन पत्र का पालन नहीं किया जा रहा है. सिंधिया समर्थक गोयल अपने क्षेत्र के झुग्गी वासियों की समस्या को लेकर विधानसभा परिसर में धरने पर बैठ गए

  • Share this:
भोपाल. कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल (Munnalal Goyal) अपने विधानसभा क्षेत्र की समस्याओं को लेकर शनिवार को विधानसभा परिसर (Assembly Premises) के बाहर धरने पर बैठ गए. सुबह विधानसभा पहुंचे मुन्नालाल गोयल पहले परिसर के अंदर घुसने के लिए बैरिकेड से कूदते हुए नजर आए. उसके बाद विधानसभा में लगी गांधी प्रतिमा पर पहुंच कर उन्होंने माल्यार्पण किया और फिर विधानसभा परिसर के गेट पर दरी बिछाकर धरने पर बैठ गए. ग्वालियर पूर्व से कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल का आरोप है कि कांग्रेस जिन वचन पत्रों के सहारे सत्ता पर काबिज हुई है उन वचन पत्रों पर अमल नहीं हो रहा है. गोयल ने झुग्गी वासियों को पट्टे देने के वचन को पूरा नहीं करने का मुद्दा उठाया. गोयल ने कहा कि उनके विधानसभा क्षेत्र के 112 झुग्गी वासियों को कांग्रेस के वचन पत्र पर अमल का इंतजार है.

विधानसभा में भी उठाया था मामला
झुग्गी वासियों को पट्टे देने के इस मामले को उन्होंने विधानसभा में 6 महीने पहले भी ध्यानाकर्षण के जरिए उठाया था, जिसमें सरकार के मंत्री ने जल्दी ही झुग्गी वासियों को पट्टे देने का ऐलान भी कर दिया था. लेकिन 6 महीने बीतने के बाद भी इस पर अमल नहीं होने को लेकर अब वह नाराज हैं. कांग्रेस विधायक ने मांग की है पार्टी के वचन पत्र पर सरकार को तत्काल अमल करना चाहिए और जो अफसर वचन पत्र के अमल पर अड़ंगे लगा रहे हैं उनसे भी सरकार को सख्ती से निपटना चाहिए.

सिंधिया के करीबी माने जाते हैं मुन्नालाल गोयल

ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी माने जाने वाले मुन्नालाल गोयल ने कहा है यह सीधे सरकार से जुड़ा हुआ मामला है. उन्होंने कहा कि मेरी व्यक्तिगत नाराजगी कांग्रेस का वचन पत्र पूरा नहीं होने को लेकर है, इसलिए मुझे मजबूर होकर विधानसभा परिसर के बाहर धरना देना पड़ा है. कांग्रेस विधायक ने कहा है कि वह झुग्गीवासियों को पट्टे दिए जाने की मांग को लेकर कई बार मुख्यमंत्री को भी पत्र लिख चुके हैं लेकिन उस पर अब तक अमल नहीं हुआ है. विधानसभा के विशेष सत्र में भी उन्होंने इस मुद्दे को उठाने की कोशिश की थी लेकिन उनकी आवाज को सुना नहीं गया.

'सरकार को आम लोगों की आवाज सुननी होगी'
एक दिन पहले ही कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा था कि सरकार को आम लोगों की आवाज को सुनना होगा. कार्यकर्ताओं की आवाज को भी सरकार सुनना होगा और जिन मुद्दों के सहारे कांग्रेस सत्ता पर काबिज हुई है उन मुद्दों पर खरा उतरना सरकार की जिम्मेदारी है. सिंधिया के सरकार को जिम्मेदारियों का अहसास कराने के दूसरे ही दिन कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल के विधानसभा परिसर में धरना देने को प्रेशर पॉलिटिक्स से जोड़कर देखा जा रहा है, लेकिन कांग्रेस के अंदर ही मची खींचतान पर बीजेपी को बैठे-बिठाए मुद्दा जरूर हाथ लग गया है.ये भी पढ़ें -
...महज इस वजह से आदिवासी हॉस्टल के चौकीदार ने 7 साल के छात्र को गला दबाकर मार डाला
एससी-एसटी आरक्षण संशोधन विधेयक मध्य प्रदेश विधानसभा में पास

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्वालियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 18, 2020, 1:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर