अपना शहर चुनें

States

MP: सेवा गारंटी कानून की नब्ज टटोलने CM शिवराज ने लोगों को किया फोन, रायसेन के वीरेंद्र ने साझा किए अनुभव

सेवा गारंटी कानून की हकीकत जानने को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लाभार्थियों को किया फोन. (फाइल फोटो)
सेवा गारंटी कानून की हकीकत जानने को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लाभार्थियों को किया फोन. (फाइल फोटो)

सेवा गारंटी अधिनियम की वास्तविक नब्ज टटोलने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने वर्चुअल संवाद किया. उन्होंने लाभार्थियों से सीधे बात कर उनके अनुभवों को जाना. इस मौके पर मुख्यमंत्री ने रायसेन जिले के चयनित नागरिक वीरेंद्र सिंह से बात की.

  • Share this:
रायसेन. प्रदेश के नागरिकों को तय समय सीमा में योजनाओं का लाभ देने वाली लोक सेवा गारंटी अधिनियम की वास्तविक नब्ज टटोलने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने वर्चुअल संवाद किया. उन्होंने लाभार्थियों से सीधे बात कर उनके अनुभवों को जाना. इस मौके पर मुख्यमंत्री ने रायसेन जिले के चयनित नागरिक वीरेंद्र सिंह से बात की. मुख्यमंत्री शिवराज ने संवाद जयसिया राम कैसे हो बोलकर शुरू किया. इसके बाद उनके अनुभव जाने. वीरेंद्र ने कहा कि उ हैं 24 घंटे में ही योजना का लाभ मिल गया. वीरेंद्र ने कहा कि मैं किसी की बातों में नहीं आया. मैं उम्र में भी अच्छा हूं, 24 घंटे में योजना का लाभ मिला है. उसने मुख्यमंत्री से कहा कि मैंने आप के साथ साइकिल रैली भी की है.

दरअसल, लोक सेवा गारंटी अधिनियम 2021 के सफलतम 10 वर्ष पूर्ण होने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में सोमवार को मध्य प्रदेश लोक सेवा एवं सुशासन के क्षेत्र में बढ़ते कदम कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा रायसेन के चयनित नागरिक से सीधे संवाद किया गया. इसी दौरान मुख्यमंत्री ने रायसेन निवासी वीरेंद्र सिंह से बात करते हुए हाल चाल जानें. बात जब उनके जन्मदिन पर आई तो उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा, 'कलेक्टर ने तो नहीं कहा मुख्यमंत्री का जन्म दिन है' इसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने योजना के लाभ पर बात की. उन्होंने पूछा कि आप को किस सेवा का लाभ मिला, इस पर वीरेंद्र सिंह ने कहा कि उसने वृद्धा पेंशन के लिए आवेदन किया था, जिसका लाभ उसे 24 घंटे में ही मिल गया.

सीएम से बात कर साझा किया अनुभव


इसके बाद वीरेंद्र सिंह ने भी मुख्यमंत्री से खुलकर बात की. उन्होंने पूछा आप कैसे हैं. योजना पर उन्होंने कहा कि मैं किसी की बातों में नहीं आया. मैंने आप के साथ साइकिल यात्रा भी की है. वीरेंद्र ने बताया कि वृद्ध पेंसन योजना का लाभ लेने के लिए फॉर्म जमा किया था. एक दिवसीय कार्यक्रम में जांच पड़ताल के बाद 24 घंटे में आवेदन कंप्लीट कर दिया गया और पेंशन भी मिल गई है. वहीं वीरेंद्र सिंह ने बताया कि उसे मुख्यमंत्री से बात करके बहुत अच्छा लगा. उसने मुख्यमंत्री से हुई बातों को पत्रकारों से भी साझा किया. कलेक्ट्रेट में इस कार्यक्रम के दौरान स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी, कलेक्टर उमाशंकर भार्गव सहित जिले के समस्त अधिकारी उपस्थित रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज