पत्नी और उसके प्रेमी पर प्रताड़ना का आरोप लगाकर आरक्षक हुआ लापता, जाने से पहले छोड़ी चिट्ठी

रायसेन जिले के सांची थाने में पदस्थ आरक्षक शैलेंद्र शाक्य की एक चिट्ठी व्हाट्सएप पर वायरल हुई है. इसके बाद से वह लापता हो गया है.

Ankit Tiwari | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 14, 2019, 11:31 AM IST
पत्नी और उसके प्रेमी पर प्रताड़ना का आरोप लगाकर आरक्षक हुआ लापता, जाने से पहले छोड़ी चिट्ठी
पत्नी और उसके प्रेमी पर प्रताड़ना का आरोप लगाकर आरक्षक हुआ लापता, जाने से पहले छोड़ी चिट्ठी
Ankit Tiwari | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 14, 2019, 11:31 AM IST
मध्य प्रदेश में रायसेन जिले के सांची थाने में पदस्थ आरक्षक शैलेंद्र शाक्य की एक चिट्ठी व्हाट्सएप पर वायरल हुई है. नोट लिखने के बाद आरक्षक शैलेंद्र शाक्य ने अपना मोबाइल दोपहर करीब एक बजे बंद कर दिया था. आरक्षक की लास्ट लोकेशन रायसेन जिले के बेगमगंज बताई जा रही है. शैलेंद्र शाक्य भोपाल जिले के बैरसिया का रहने वाला है.

नोट लिख पत्नी के प्रेमी पर लगाया प्रताड़ना का आरोप

आरक्षक ने नोट में अपनी पत्नी के प्रेमी पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है. पत्नी का प्रेमी जिग्नेश राठौर नजीराबाद थाने में पदस्थ है. आरक्षक ने अपनी पत्नी और उसके प्रेमी की एक साथ वाली फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल की है.

क्राइम रिपोर्ट-crime report
नोट लिख पत्नी के प्रेमी पर लगाया प्रताड़ना का आरोप


पंचायत में हुआ था तलाक

लापता आरक्षक शैलेंद्र शाक्य का आरोप है कि शादी के बाद से ही प्रेमी और उसकी पत्नी दोनों मिलकर उसे प्रताड़ित कर रहे थे. आरक्षक ने पत्नी और प्रेमी को रंगे हाथ आपत्तिजनक हालत में पकड़ लिया था. इसके बाद समाज की पंचायत में दोनों की मर्जी से दोनों बीच तलाक भी हो गया था.

इधर, तलाक के बाद से दोनों आरक्षक से 10 लाख रुपए की मांग कर उसे मानसिक तौर पर प्रताड़ित रहे थे. लापता आरक्षक ने डीजीपी से लेकर आईजी जोन भोपाल तक से इसकी शिकायत की, लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई.
Loading...

लापता आरक्षक की तलाश में जुटी पुलिस

फिलहाल, पुलिस ने आरक्षक शैलेंद्र शाक्य के भाई की शिकायत पर उसके लापता होने का मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस लापता आरक्षक की तलाश में जुट गई है. मामले में एडिशनल एसपी अवधेश प्रताप सिंह ने बताया कि शैलेंद्र की नाइट गश्त की ड्यूटी थी. सुबह 5 बजे तक उसने ड्यूटी भी की, लेकिन इसके बाद वह लापता हो गया. उसकी मोटरसाइकल भी सांची में खड़ी है. व्हाट्सएप पर उसने कुछ लोगों को सुसाइड नोट भेजा है.

ये भी पढ़ें:- इस आरक्षक को 10 साल से DGP भी ठोक कर रहे हैं सलाम 

ये भी पढ़ें:- स्कॉलरशिप के पैसे से फिर कैदियों को जेल से रिहा कराएगा आयुष

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायसेन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 14, 2019, 11:31 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...