Home /News /madhya-pradesh /

COVID-19: मध्य प्रदेश के रायसेन में दो दिनों के अंदर दो सगे भाइयों की कोरोना से मौत

COVID-19: मध्य प्रदेश के रायसेन में दो दिनों के अंदर दो सगे भाइयों की कोरोना से मौत

कोरोना वायरस के संक्रमण से दो दिनों के अंदर दो भाइयों की मौत हो गई.

कोरोना वायरस के संक्रमण से दो दिनों के अंदर दो भाइयों की मौत हो गई.

रायसेन में टिफिन सेंटर चलाने वाले एक ही परिवार में कोरोना संक्रमण से दो सगे भाइयों की मौत हो गई है. बड़े भाई की 24 अप्रैल को मौत हो गई थी जबकि 25 अप्रैल को छोटे भाई ने भी भोपाल के हमीदिया अस्पताल में दम तोड़ दिया.

    रायसेन. मध्य प्रदेश के रायसेन में टिफिन सेंटर चलाने वाले अग्रवाल परिवार में दो सगे भाइयों (Two Brother Died) की मौत हो गई है. बड़े भाई की 24 अप्रैल को मौत हो गई थी जबकि 25 अप्रैल को छोटे भाई  ने भी भोपाल के हमीदिया अस्पताल (Hamidiya Hospital) में दम तोड़ दिया. छोटे भाई  का भोपाल में ही अंतिम संस्कार किया जाएगा. छोटे भाई  की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर रायसेन में अगले आदेश तक कर्फ्यू लगा दिया गया है. बड़े भाई की मौत के बाद ही पुलिस विभाग ने 56 जवानों को क्वारंटाइन कर दिया गया था. वहीं छोटे भाई की मौत के बाद परिजन, पुलिस, और स्वास्थ्य विभाग बैंक के कर्मचारियों को क्वारेंटाइन कर दिया गया है.

    पत्नी को चिरायु में कराया गया भर्ती

    रायसेन नगर के वार्ड नंबर सात के निवासी बड़े भाई को सांस लेने में दिक्कत होने पर रायसेन में प्राथमिक उपचार के बाद भोपाल रेफर किया. वहां इलाज के दौरान 24 तारीख को मौत हो गई. पत्नी ने भोपाल में अंतिम संस्कार किया. अमित के छोटे भाई को हमीदिया हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. 25 अप्रैल की रात्रि में छोटे भाई ने भी दम तोड़ दिया. सुमित का अंतिम संस्कार भोपाल में किया जाएगा. पत्नी को कोरोना संदिग्ध मानते हुए चिरायु में भर्ती कराया गया.

    मृतक की सबसे छोटी बच्ची 12 दिनों की है

    परिवार के सभी सदस्यों को क्वारेंटाइन सेंटर भेजा गया है. रायसेन में कोरोना मरीजो की संख्या 27 हो गई है. मृतक के परिवार में चार छोटे छोटे बच्चे हैं. सबसे छोटी नवजात बच्ची महज 12 दिन की है. मृतक की पत्नी को कोरोना संदिग्ध मानकर भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती किया गया है.

    टिपिन सेंटर चलाता है परिवार

    बड़े भाई  रायसेन में टिपिन सेंटर चलते थे. लॉक डाउन के दौरान उनका पूरा परिवार खाना की व्यवस्था में लगा हुआ था. पुलिस वालों को टिफिन पहुंचाया जाता था. मौत से दो दिन पहले 22 अप्रैल तक अमित अग्रवाल शहर में ही था. जिला अस्पताल में उसका इलाज किया गया था. वह शहर में कुछ लोगों के संपर्क में भी आया था. उसके बाद छोटे भाई का भी जिला अस्पताल में इलाज किया गया. मृतक की पत्नी जिस बैंक में काम करती है, वहां के 6 कर्मचारियों को भी क्वारेंटाइन किया गया है.

    बड़े भाई  की मौत के बाद ही यह संभावनाएं जाहिर की जा रही थीं कि वो और सुमित कोरोना संक्रमित हैं. इसीलिए स्वास्थ्य विभाग ने अपने कर्मचारियों को क्वारंटाइन कर दिया था. अधिकारियों ने उनके पिता और परिवार के अन्य लगभग छह सदस्यों को क्वारेंटाइन नहीं किया था. अब सुमित की मौत के बाद शहर में कर्फ्यू लगाकर सक्रियता दिखाई जा रही है.

    (देवराज दुबे की रिपोर्ट)

    ये भी पढ़ें: Lockdown: इंदौर में महंगी पड़ी Porsche की सवारी, पुलिस ने युवक से लगवाई उठक बैठक

    COVID-19: लॉकडाउन में मलेरिया वर्कर ने रचाई शादी, मास्क पहन कर लिए फेरे

    Tags: Coronavirus, Covid19, Madhya pradesh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर