Assembly Banner 2021

Raisen : करणी सेना के जिलाध्यक्ष की हत्या के बाद 17 घंटे तक शव लेकर धरने पर बैठा रहा परिवार

करणी सेना के नेता की हत्या का आरोप उन्हीं के रिश्तेदार राघवेंद्र पर लगा है.

करणी सेना के नेता की हत्या का आरोप उन्हीं के रिश्तेदार राघवेंद्र पर लगा है.

Raisen.शिवराज सिंह राजपूत की हत्या से नाराज़ परिवार ने बरेली थाने का घेराव कर दिया और उनके शव को रखकर धरना देकर बैठ गया.परिवार के लोग आरोपी राघवेंद्र की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं

  • Share this:
देवराज दुबे

रायसेन.करणी सेना के रायसेन ज़िलाध्यक्ष शिवराज सिंह राजपूत की हत्या (Murder) के बाद उनके परिवार औऱ समर्थक थाने पर धरना (Dharna) देकर बैठे हैं.आरोपियों की गिरफ्तारी न होने तक इन्होंने धरना देने का ऐलान किया है.परिवार उनका शव लेकर 17 घंटे तक धरने पर बैठा रहा.हालांकि इस बीच पुलिस के समझाने पर शिवराज सिंह राजपूत का अंतिम संस्कार करने के लिए परिवार तैयार हुआ.

रायसेन के करणी सेना के जिलाध्यक्ष शिवराज सिंह राजपूत की बरेली तहसील में मंगलवार देर रात गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी.हत्या का आरोप उनके रिश्तेदार राघवेंद्र राजपूत पर लगा है.बताया जा रहा है कि राघवेंद्र ने शिवराज को देर रात साढ़े 12 बजे उनके घर में घुसकर सीने पर गोली मारी.मामला कोई पुराने विवाद का है.आरोपी फरार है.



Youtube Video

सीने में मारी गोली
शिवराज को परिवार के लोगों ने फौरन सिविल हॉस्पिटल बरेली में भर्ती कराया.लेकिन हालत गंभीर होने के कारण उन्हें आनन-फानन में भोपाल रेफर किया गया.वहां पहुंचने से पहले ही शिवराज ने रास्ते मे दम तोड़ दिया.आरोपी राघवेंद्र राजपूत और मृतक शिवराज आपस में रिश्तेदार हैं और दोस्त थे.लेकिन किसी पर दोनों में कुछ दिन से विवाद चल रहा था.कल देर रात राघवेंद्र शिवराज के घर पहुंचा और सीधे सीने में गोली मार दी.

दोनों लिस्टेड बदमाश
पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर लिया है.रायसेन एसपी मोनिका शुक्ला ने बताया कि पुलिस की टीमें आरोपी की खोज कर रही हैं. जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा.बरेली पुलिस ने बताया कि मृतक और आरोपी दोनों पुलिस के लिस्टेड गुंडे हैं. राघवेंद्र के ऊपर बरेली थाने में कई मामले दर्ज हैं और उसके खिलाफ जिला बदर की कार्रवाई हो चुकी है.

परिवार ने शव रखकर दिया धरना
शिवराज सिंह राजपूत की हत्या से नाराज़ परिवार ने बरेली थाने का घेराव कर दिया और उनके शव को रखकर धरना देकर बैठ गया.परिवार के लोग आरोपी राघवेंद्र की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं.बड़ी मुश्किल से 17 घंटे बाद परिवार शिवराज सिंह राजपूत के अंतिम संस्कार के लिए तैयार हुआ, हालांकि धरना खत्म करने पर वो तैयार नहीं हुआ.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज