लाइव टीवी

पानी पुरी बेचने वाले की बेटी ने NET परीक्षा में हासिल की 167वीं रैंक, दिया ये संदेश

News18 Madhya Pradesh
Updated: February 5, 2020, 9:34 PM IST
पानी पुरी बेचने वाले की बेटी ने NET परीक्षा में हासिल की 167वीं रैंक, दिया ये संदेश
पानी पुरी बचने वाले की बेटी ने हासिल की 167वीं रैंक.

रायसेन में पानी पुरी बेचने वाले माधो सिंह कुशवाहा (Madho Singh Kushwaha) की बेटी शिवानी ने सीएसआईआर नेट जेआरएफ परीक्षा में राष्ट्रीय स्तर पर 167वीं रैंक हासिल की है.

  • Share this:
रायसेन. कहते हैं, जब सपनों में उड़ान हो तो मुश्किलें भी आड़े नहीं आ पाती. रायसेन में पानी पुरी बेचने वाले माधो सिंह कुशवाहा (Madho Singh Kushwaha) की बेटी शिवानी ने इसे सच कर दिखाया है. शिवानी कुशवाहा ने सीएसआईआर नेट जेआरएफ परीक्षा (CSIR NET JRF Examination) में राष्ट्रीय स्तर पर 167वीं रैंक पाकर अपने परिवार का नाम रोशन किया है. इस कामयाबी को हासिल करने में परिवार की खराब माली हालत भी उनके आड़े नहीं आई. जबकि बेटी की इस कामयाबी के बाद अब परिवार की खुशी का ठिकाना नहीं है.

रोशन किया परिवार का नाम
बेगमगंज नगर में पानी पुरी का ठेला लगाने वाले माधो सिंह कुशवाहा ने कभी नहीं सोचा होगा कि उनकी बेटी की मेहनत इस तरह रंग लाएगी. बेटी शिवानी ने ऑल इंडिया स्तर की गणित विषय की परीक्षा सीएसआईआर नेट जेआरएफ में कामयाबी हासिल की. राष्ट्रीय स्तर पर शिवानी ने 167वीं रैंक पाकर अपने परिवार का नाम रोशन किया है. जबकि वह सागर के हरि सिंह गौर विश्वविद्यालय की छात्रा है.

पिता-बेटी की मेहनत लाई रंग

घर की कमजोर आर्थिक स्थिति के चलते शिवानी को पढ़ाई में कुछ दिक्कतें भी आईं, लेकिन पिता का सहयोग मिलता रहा. माली हालत खराब होने के बाद भी पिता ने बेटी को पढ़ाने के लिए दिन-रात मेहनत की. जबकि परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए पिता ने शिवानी का एडमिशन डीपीएस एकेडमी तक में कराया, ताकि तैयारी में उसे कोचिंग की मदद मिल सके. बेटी ने भी पिता की मेहनत बेकार नहीं जाने दी.

Madhya Pradesh, Shivani Kushwaha, मध्‍य प्रदेश, शिवानी कुशवाहा
शिवानी कुशवाहा अपने परिवार के साथ.


बेटियों को दिया संदेश इस कामयाबी के बाद शिवानी कुशवाहा ने अपने जैसी बाकी बेटियों को भी आगे बढ़ने का संदेश दिया है. उन्‍होंने कहा कि बेटे और बेटियों में कोई फर्क नहीं रहा है. लड़कियों को भी इस बात को साबित करके दिखाना चाहिए. जबकि शिवानी के पिता माधो ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि मेहनत कर अपने बच्चों को पढ़ाएं ताकि वो अपने मां बाप का नाम रोशन करें. यही नहीं, शिवानी की मां ने कहा कि चटनी से रोटी खा लो लेकिन बच्चों को जरूर पढ़ाओ. हमने कर्ज लेकर भी बेटी को पढ़ाया, क्योंकि हमें विश्वास था बच्ची आगे बढ़ेगी. शिवानी हमारे लिए बेटी नहीं बेटा है.

( रिेपोर्ट-देवराज दुबे)

 

ये भी पढ़ें-

कमलनाथ सरकार का बड़ा ऐलान, राम मंदिर की तरह राम वन गमन पथ के लिए बनेगा ट्रस्‍ट

 

MP में CAA लागू नहीं करेगी कमलनाथ सरकार, कैबिनेट में संकल्प पास

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायसेन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 8:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर