Viral Video: कुएं में गिरकर प्यासे तेंदुए की खराब हो गई हालत, जानिए निकालने के लिए कितने बेलने पड़े पापड़

मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में कुएं में गिरे तेंदुए को निकालने खासी मशक्कत करनी पड़ी.

मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में कुएं में गिरे तेंदुए को निकालने खासी मशक्कत करनी पड़ी.

Viral Video: मध्य प्रदेश के रायसेन में प्यासा तेंदुआ भटककर कुएं में गिर गया. वन विभाग को उसे निकालने में तीन घंटे मशक्कत करनी पड़ी. तेंदुए को खाट और रस्सियों के सहारे जैसे-तैसे ऊपर लाया गया.

  • Last Updated: June 3, 2021, 1:37 PM IST
  • Share this:

रायसेन. मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में अजीब वाकया हो गया. यहां प्यास से परेशान तेंदुआ कुएं में जा गिरा. 3 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद उसे बाहर निकाला जा सका. कुएं से ऊपर आते ही तेंदुआ पलक झपकते ही जंगल की ओर भाग गया.

घटना रायसेन जिले की बेगमगंज तहसील में घटी. तहसील के भैसवाई कलां में लोग कुएं के पास गुजर रहे थे, तो उन्हें अजीब आवाज आई. जब उन्होंने झांककर देखा तो तेंदुआ कुएं में गिरा हुआ था. गांववालों ने तुरंत इसकी सूचना वन विभाग को दी. वन विभाग की टीम सूचना मिलते ही मौके पर पहुंच गई.

Youtube Video

खाट के जरिए तेंदुए को बाहर निकालने की कोशिश
DFO अजय कुमार पांडे ने बताया कि विभाग को एक किसान से कुएं में तेंदुए के गिरने का पता चला. मौके पर पहुंची हमारी टीम ने तेंदुए को बचाने के कई प्रयास शुरू कर दिए. वन विभाग की टीम ने गांव से एक खाट मंगाई. खाट को रस्सी के सहारे कुएं में उतारा गया. तेंदुआ तुरंत खाट पर चढ़ गया. हालांकि, उसने खाट की सभी रस्सियों को काट दिया था. उन्होंने कहा कि तेंदुआ प्यासा होगा, इस वजह से गांव की ओर आया होगा.

ऊपर आते ही भाग निकला

इसके बाद फिर रस्सी की व्यवस्था की गई और खाट को दोबारा बांधा गया. करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद खाट के जरिए तेंदुए को कुएं से बाहर निकाला जा सका. ऊपर आते ही वह तुरंत जंगल की ओर भाग गया.



टूरिस्ट के लिए खुला पन्ना टाइगर रिजर्व

पन्ना टाइगर रिज़र्व बुधवार से जून माह के लिए पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है. कोरोना महामारी के चलते पार्क करीब डेढ़ माह से बंद था. पन्ना टाइगर रिज़र्व के क्षेत्र संचालक उत्तम कुमार शर्मा ने बुधवार को बताया कि पन्ना टाइगर रिज़र्व को खोलने की अनुमति दी गई है. ये 30 जून तक खुला रहेगा. शर्मा ने बताया कि पन्ना टाइगर रिज़र्व के खुलने से पर्यटकों को अनाथ हुए चार शावकों और टाइगर सहित अन्य वन्य प्राणियों को देखने का मौका मिलेगा. इसके अलावा पार्क खुलने से रोजगार से वंचित गाईड, जिप्सी चालकों और रिसोर्ट मालिकों को भी रोजगार उपलब्ध होगा. पहले दिन पार्क प्रबंधन ने कोविड की सभी गाइड लाइन को अपनाते हुए पर्यटकों को पार्क में प्रवेश कराया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज