होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /15000 भक्तों ने शोभायात्रा निकालकर मां जालपा को चढ़ाई 1111 मीटर चुनरी, 5 किलोमीटर मार्ग पर बिछाया कारपेट

15000 भक्तों ने शोभायात्रा निकालकर मां जालपा को चढ़ाई 1111 मीटर चुनरी, 5 किलोमीटर मार्ग पर बिछाया कारपेट

राजगढ़ में चुनरी यात्रा निकाली गई.

राजगढ़ में चुनरी यात्रा निकाली गई.

मध्य प्रदेश के राजगढ़ शहर और उसके आसपास के इलाके इन दिनों नवरात्रि के रंग में पूरी तरह से रंगे हुए हैं. आसपास के ग्रामी ...अधिक पढ़ें

    शुभम जायसवाल/राजगढ़. मध्य प्रदेश के राजगढ़ शहर और उसके आसपास के इलाके इन दिनों नवरात्रि की धूम है. बीते रविवार को शहर में विशाल चुनरी यात्रा निकाली गई. जालपा माता को चढ़ाने के लिए निकाली गई इस चुनरी यात्रा में बड़ि संख्या में देवी भक्तों ने भाग लिया. राजगढ़ में निकाली गई विशाल चुनरी यात्रा में हजारों की संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए. इस अवसर पर मां जालपा रानी को 1,111 मीटर की चुनरी चढ़ाई गई.

    चुनरी यात्रा में लगभग 15,000 से अधिक मां के भक्त शामिल हुए. जयपुर जबलपुर हाईवे पर 4 से 5 किलोमीटर तक चुनरी यात्रा में मां भक्तों की कतारें नजर आई. चुनरी यात्रा राजगढ़ राजमहल प्रांगण से शुरू हुई. हर साल निकलने वाली इस विशाल और भव्य मां जालपा की चुनरी शोभायात्रा का भक्तों को काफी इंतजार रहता है. इस अवसर पर भक्तों में काफी उत्साह और भक्ति का जुनून देखा गया.

    5 किमी लंबे मार्ग पर बिछाया कारपेट
    शोभायात्रा की खास बात यह थी कि चुनरी यात्रा के दौरान पूरे 5 किमी लंबे मार्ग पर कारपेट बिछाया गया था, ताकि भक्तों को गर्मी से तपती सड़क पर दिक्कतों का सामना ना करना पड़े. मातृशक्ति चुनरी को थामे हुए आगे-आगे चल रही थी. यात्रा के पूरे मार्ग पर दे्वी भक्तों द्वारा जलपान, खि़चडी, सहित अलग-अलग तरह के स्टॉल लगाकर चुनरी यात्रा में साथ चल रहे भक्तों का स्वागत किया. चुनरी शोभायात्रा निकाललने वाली समिति द्वारा यात्रा में शामिल होने वाले भक्तों में पुरुष वर्ग से धोती-कुर्ता व महिलाओं से लाल साड़ी पहनकर शोभायात्रा में शामिल होने का आह्वान किया था.

    चाक-चौबंद रहे सुरक्षा के इंतजाम, वाहनों का प्रवेश बाधित
    चुनरी यात्रा को लेकर पूरे मार्ग में चाक-चौबंद सुरक्षा के इंतजाम किए गए थे. जगह-जगह पुलिस प्वाइंट लगाए गए थे. इसके अलावा हाइवे पर वाहनों के कारण कोई व्यवधान पैदा न हो इसके लिए यातायात पुलिस मैदान में पूरे समय डटी रही. साथ ही जालपा माता मंदिर मार्ग पर चुनरी यात्रा के समापन तक वाहनों का प्रवेश बंद रहा. पहाड़ी से नीचे ही वाहनों को पार्क करके भक्तों को पैदल जाना-आना रहा ताकि यात्रा के दौरान अव्यवस्था पैदा न हो.

    Tags: Madhya pradesh news, Rajgarh News

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें