होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /राजगढ़ में अपनी 6 सूत्रीय मांगों को लेकर दिव्यांगों ने निकाली स्वाभिमान पदयात्रा

राजगढ़ में अपनी 6 सूत्रीय मांगों को लेकर दिव्यांगों ने निकाली स्वाभिमान पदयात्रा

Rajgarh News: दिव्यांगों की मांग है कि पेंशन को पांच हजार प्रति माह किया जाए, सभी दिव्यांग भर्ती में बेकलॉक के लिए रिक् ...अधिक पढ़ें

  • Local18
  • Last Updated :

    राजगढ़। 16 सूत्रीय मांगों को लेकर दिव्यांगों ने स्वाभिमान पदयात्रा राजगढ़ में निकाली. दिव्यांगों का कहना है कि उनकी ओर 20 साल से कोई ध्यान नहीं दे रहा है. योजनाएं तो लागू की जा रही लेकिन योजनाओं का लाभ उनको नहीं मिल पा रहा है. 16 सूत्रीय मांगों को लेकर राजगढ़ खिलचीपुर नाके से लेकर कलेक्ट्रेट कार्यालय तक दिव्यांगों ने स्वाभिमान पदयात्रा निकाली. दिव्यांगों ने कहा 2 महीने में अगर उनकी मांगे पूरी नहीं हुई तो भोपाल में प्रदेश से दिव्यांग एकत्रित होकर स्वाभिमान पदयात्रा निकालेंगे.

    दिव्यांगों की सरकार से मांगें

    दिव्यांगों की मांग है कि पेंशन को पांच हजार प्रति माह किया जाए, सभी दिव्यांग भर्ती में बेकलॉक के लिए रिक्त पद दिया जाए, पांच लाख तक का लोन अनिवार्य रूप से दिया जाए, हर जिले में एकल खिड़की व्यवस्था की जाए, विवाह प्रोत्साहन राशि बढ़ाकर पांच लाख तक की जाए, ऐसे दंपतियों को सम्मानित किया जाए, पंचायत नगरीय निकाय, विधान सभा सांसद के प्रति दिव्यांगों को अलग से प्रतिनिधित्व दिया जाए, दिव्यांगों के लिए आयुक्त और मुख्य आयुक्त के पद पर दिव्यांग व्यक्ति को नियुक्त किया जाए, आवासीय दिव्यांगों के लिए पट्टा वितरण कर आवास और शौचालय उपलब्ध कराया जाए, ग्रामीण व शहरी अंचल की दिव्यांग खेल प्रतिभाओं को आगे बढ़ाने हेतु निशुल्क खेल सामग्री एवं ट्रेनिंग सेंटर तहसील एवं जिला स्तर पर स्थापित हो, जिससे कि प्रदेश में दिव्यांग खिलाड़ी भी राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीतकर अपने जिले को गौरवान्वित कर सकें.

    शिक्षा एवं उच्च शिक्षा के सभी क्षेत्रों में दिव्यांगों को निशुल्क शिक्षा एवं छात्रावास का प्रावधान प्रावधानों छात्रावास उपलब्ध ना होने की स्थिति में क्षेत्रवार आवास भत्ता उपलब्ध कराया जाए. सभी जिलों में दिव्यांग सहायता केंद्रों की स्थापना हो जो कि दिव्यांगों को शासन की योजना समझा कर उनका समुचित क्रियान्वयन कर सकें दिव्यांग दंपतियों के 2 बच्चों की नर्सरी से उच्च शिक्षा तक पढ़ाई निशुल्क हो.

    Tags: Mp news

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें