कांग्रेस कार्यकर्ता को सबके सामने कराना पड़ा मुंडन, BJP कार्यकर्ता से लगी थी ये शर्त

लोग हार जीत को लेकर तरह तरह की शर्तें लगा रहे थे, कोई मोदी की जीत पर फ्री में चाय पिलाने की बात कह रहा था तो कोई राहुल के पीएम बनने पर अपना मुंडन कराने की

News18 Madhya Pradesh
Updated: May 24, 2019, 9:05 PM IST
News18 Madhya Pradesh
Updated: May 24, 2019, 9:05 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे अब सामने आ चुके हैं. बीजेपी को प्रचंड बहुमत मिला है. चुनाव के वक्त विपक्ष और एनडीए में कांटे की टक्कर होने की बात कही जा रही थी. लोग हार जीत को लेकर तरह तरह की शर्तें लगा रहे थे, कोई मोदी की जीत पर फ्री में चाय पिलाने की बात कह रहा था तो कोई राहुल के पीएम बनने पर अपना मुंडन कराने की. चुनाव नतीजों के बाद ऐसा ही एक रोचक मामला मध्यप्रदेश के राजगढ़ से सामने आया है. जहां शर्त हारने पर कांग्रेस के कार्यकर्ता को सबके सामने मुंडन कराना पड़ा.

मिली जानकारी के मुताबिक, राजगढ़ के हराना गांव में वोटिंग के दिन कांग्रेस कार्यकर्ता बाबूलाल सेन और बीजेपी कार्यकर्ता राम मोहन मंडलोई के बीच राहुल गांधी और नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने पर शर्त लगी. शर्त के अनुसार अगर मोदी प्रधानमंत्री बनते हैं तो कांग्रेस कार्यकर्ता बाबूलाल सेन सबके सामने अपना मुंडन कराएंगे. और अगर राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनते हैं तो बीजेपी कार्यकर्ता राम मोहन मंडलोई को अपने सिर का मुंडन कराना पड़ेगा. गुरुवार को नजीजे घोषित हो गए और बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिल गया. इस तरह कांग्रेस के कार्यकर्ता शर्त हार गए.



नतीजे आने के दूसरे दिन बीजेपी के मंडलोई सुबह-सुबह अपने साथियों के साथ नाई लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता बाबूलाल के घर पहुंच गए और उनसे अपनी शर्त पूरी करने कहा. इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ता ने सबके सामने मुंडन करा लिया. मुंडन के बाद बाबूलाल ने चुनाव से पहले का पूरा वाकया सुनाया. उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार ने चार महीने में अच्छा काम किया. अगर कर्जमाफी का समय दस दिन की जगह तीन महीने का समय दिया होता तो अच्छे परिणाम आ सकते थे.

ये भी पढ़ें-

मोदी लहर नहीं, इस शख्स की वजह से सपा के 'गढ़' में हार गए अक्षय यादव

आजम खान से हारीं जया प्रदा करेंगी पार्टी में 'गद्दारी' की शिकायत

लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: मोदी के ये सात 'ब्रह्मास्त्र', जिनके आगे ढ़ेर हुआ पूरा विपक्ष
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...