होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /राजगढ़ जिला अस्पताल का हाल बेहाल, बुनियादी सुविधाएं भी नहीं, इलाज के लिए भटक रहे मरीज

राजगढ़ जिला अस्पताल का हाल बेहाल, बुनियादी सुविधाएं भी नहीं, इलाज के लिए भटक रहे मरीज

राजगढ़ के अस्पताल का बुरा हाल है.

राजगढ़ के अस्पताल का बुरा हाल है.

मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिला अस्पताल के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. आलम ये है कि अस्पताल में मरीजों का एक्सरे भी नह ...अधिक पढ़ें

    शुभम जायसवाल/राजगढ़. मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिला अस्पताल के हालात इतने बदतर हो चुके हैं कि अब मरीजों का एक्सरे भी नहीं हो पा रहा है. 15 दिन से भी अधिक समय से जिला अस्पताल में एक्सरे फिल्म उपलब्ध नहीं हो पा रही है. दूरदराज से जिला अस्पताल में इलाज करवाने पहुंचे मरीजों को बिना एक्सरे के लौटना पड़ रहा है. बड़ी आस लगा कर इलाज करवाने के लिए जिला अस्पताल में आ रहे मरीजों को निराश होकर लौटना पड़ रहा है. बताया जा रहा है कि इसक बड़ी वजह जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही है.

    अस्पताल प्रबंधन पर आरोप लग रहे हैं कि एक्सीडेंट में घायल होकर एक्सरे कराने अस्पताल पहुंचे मरीजों को यह कहकर लौटा दिया जाता है कि उनके पास एक्सरे फिल्म नहीं है, यदि उपचार कराना है तो प्राइवेट एक्सरा करवा लीजिए. पिछले एक महीने से जिला अस्पताल में एक्सरे फिल्म नउपलब्ध नहीं है. जिला अस्पताल के एक्सरे प्रभारी ने सिविल सर्जन को लिखित में आवेदन दिया कि एक्सरे फिल्म खत्म हो गई जिसके चलते एक्सरे नहीं किए जा रहे हैं. लेकिन उसके बाद भी अब तक एक्सरे फिल्म उपलब्ध नहीं करवाई गई है. अभी तक जिम्मेदार अधिकारी ने इसकी सुध नहीं ली.

    बदहाल है शहर का जिला अस्पताल
    शहर के सरकारी अस्पताल में मरीज अक्सर इलाज के लिए परेशान होते रहते हैं। उनको वक्त पर उचित इलाज नहीं मिल पाता है. मरीज दूर दराज गांव से जिला अस्पताल इलाज करवाने आते हे लेकिन मरीजों जो से यह कह दिया जाता है की अभी एक्सरे फिल्म नही है। जिस कारण मरीज को मजबूरन बाहर ज्यादा पैसे दे कर एक्सरे करवाना पड़ रहा है. ऐसे में अस्पताल प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए जा रहे हैं, क्योंकि सरकारी अस्पताल में ज्यादातर कम आय वर्ग वाले लोग इलाज करवाने के लिए आते हैं. सिविल सर्जन राजेंद्र कटारिया का कहना है एक्सरे फिल्म सीमित मात्रा में थी एक-दो दिन में फिल्म उपलब्ध करा दी जाएगी.

    Tags: Madhya pradesh news, Rajgarh News

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें