होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /MP के इस मंदिर से घड़ी ले जाने पर बुरा समय होता है खत्म, अगरबत्ती नहीं सिगरेट सुलगाने पर खुश होते हैं देवता

MP के इस मंदिर से घड़ी ले जाने पर बुरा समय होता है खत्म, अगरबत्ती नहीं सिगरेट सुलगाने पर खुश होते हैं देवता

रतलाम के इस मंदिर को हटाने के लिए जब एक बार जब जेसीबी और अन्य मशीन आईं तो वह खराब हो गईं, उनका ईंधन खत्म हो गया. एक बार ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट – जयदीप गुर्जर

रतलाम. मध्यप्रदेश के रतलाम में एक अनोखा मंदिर है. यह मंदिर जिला मुख्यालय से दूर जावरा के गांव लुहारी फंटा पर स्थित है. खास बात यह है कि यह मंदिर महू-नीमच फोरलेन के बीचोंबीच डिवाइडर पर बना हुआ है. इस तरह डिवाइडर के बीच इस मंदिर के होने की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है. स्थानीय लोगों के अनुसार सगस बावजी का यह मंदिर सदियों से खजूर के पेड़ के नीचे बना हुआ है. जब फोरलेन नहीं था तब यह मंदिर सड़क किनारे था, जब फोरलेन का काम शुरू किया गया तब इस मंदिर को हटाने की भी कोशिश हुई. लोगों का कहना है कि मंदिर हटाने जब जेसीबी व अन्य मशीन आती तो वह खराब हो जाती या उसमें ईंधन खत्म हो जाता.

एक बार तो जेसीबी के अंदर सांप घुस जाने की घटना भी हुई. करीब 3 माह तक जब यह मंदिर नहीं हट पाया तो कंपनी ने मंदिर को नहीं हटाया. इसके दोनों साइड से फोरलेन को निकाल दिया गया.

समय सही करने वाली घड़ियों का मंदिर
मंदिर के पुजारी दीपेश बैरागी ने न्यूज 18 को बताया कि मन्नत पूरी होने पर यहां श्रद्धालु घड़ियां चढ़ाते हैं. कहा जाता है कि अगर किसी व्यक्ति का समय खराब है और उसे परेशानियां आ रही हैं, तो वह यहां से घड़ी ले जाता है. घड़ी ले जाकर जब उसकी परेशानियां दूर होती है तो वह नई घड़ी यहां चढ़ाकर जाता है. वाहनों से फोरलेन पर निकलने वाले यात्री यहां रूककर पूजा पाठ जरूर करते है.

इसके पीछे मान्यता है कि यहां दर्शन कर लेने से किसी भी प्रकार की दुर्घटना से बचा जा सकता है. लोग यहां बिगड़े कामों, संतान प्राप्ति, विवाह आदि कई परेशानियों को दूर करने आते है. दावा किया जाता है कि जो भी मनोकामनाएं यहां मांगी जाती है वह हर हाल में पूरी होती है. लोग यहां परिवार के साथ दर्शन के लिए पहुंचते है.

अगरबत्ती नहीं सिगरेट से खुश होते है भगवान
यहां आने वाले श्रद्धालु सगस बावजी को हार-फूल व नारियल चढ़ाते है. इसके साथ ही अगरबत्ती भी बाबाजी को लगाई जाती है. मगर इस मंदिर में भगवान जो है वो सिगरेट चढ़ाने से खुश होते है. भक्त अपनी श्रद्धा के अनुसार 1 रुपये से लेकर 20-30 रुपये तक कि सिगरेट चढ़ाते है. यहां प्रतिदिन करीब 700 श्रद्धालु माथा टेक कर जाते है. जिसमें रतलाम जिले के अलावा अन्य राज्यों के वाहन यात्री भी शामिल है. ट्रक ड्राइवर विशेष रूप से यहां भगवान के दर्शन के लिए रुकते है.

Tags: Hanuman mandir, Ratlam news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें