अपना शहर चुनें

States

इस शेल्टर होम की मालकिन शराब पीकर पति से करवाती थी बच्चियों का यौन शोषण

पुलिस की गिरफ्त में संचालिका पत्नी और उसका पति
पुलिस की गिरफ्त में संचालिका पत्नी और उसका पति

रतलाम कलेक्टर रुचिका चौहान ने बताया की डॉ. रचना भारती शराब पीकर मारपीट करती थी और उनके पति ओमप्रकाश बच्चियों का यौन शोषण करते थे.

  • Share this:
रतलाम के जावरा में सनसनीखेज़ खुलासा हुआ है.यहां शेल्टर होम कुंदन कुटीर आश्रय गृह में बच्चियों का यौन शोषण किया जा रहा था. बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष और उनके पति पर शोषण का आरोप लगा है. रचना भारती शराब पीकर बच्चियों से मारपीट करती थी और फिर अपने पति से उनका यौन शोषण करवाती थी. पिछले हफ्ते शेल्टर होम से भागी 5 बच्चियों ने ये खुलासा किया है.

शेल्टर होम से भागी  5 बच्चियां जब पकड़ी गयीं, तब इसका खुलासा हुआ. मामले में जांच के बाद कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं. जांच रिपोर्ट में बच्चियों के साथ यौन शोषण और मारपीट करने के गंभीर तथ्य सामने आये हैं. जिला बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष रचना भारती और उसके पति ओमप्रकाश भारती पर बच्चियों ने यौन शोषण करने के आरोप लगाए हैं.

जावरा शहर थाना पुलिस ने इस मामले में पोक्सो एक्ट और विभिन्न धाराओं में चार लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज कर जिला रचना भारती, ओमप्रकाश शर्मा और दिलीप बरैया को गिरफ्तार किया है, जबकि एक अन्य आरोपी संदेश जैन की गिरफ्तारी नहीं हुई है.



रतलाम कलेक्टर रुचिका चौहान ने प्रेस कॉन्प्रेस कर बताया कि जांच रिपोर्ट में बच्चियों ने बताया कि उनके साथ डॉक्टर रचना भारती शराब पीकर मारपीट करती थी और उनके पति ओमप्रकाश बच्चियों का यौन शोषण करते थे. मामले में लापरवाही बरतने वाले महिला सशक्तिकरण अधिकारी रविंद्र मिश्रा को निलंबित करने की अनुशंषा भी शासन से की गई है. आश्रय गृह को सील कर वहां रह रही सभी बच्चियों को रतलाम शिफ्ट किया गया है, जहां से उन्हें उज्जैन के शासकीय बालिका गृह भेजा जाएगा.
यह भी पढ़ें-  रतलाम: शौचालय की खिड़की तोड़ आश्रय गृह से पांच बालिकाएं फरार

आपको बता दें कि 22 जनवरी को बालिका आश्रय गृह के शौचालय की खिड़की तोड़ पांच नाबालिग लड़किया भाग गई थी. पुलिस ने इन लड़कियों को माननखेड़ा से बरामद कर चाइल्ड लाइन के हवाले किया था, जिस पर कलेक्टर ने एसडीएम जावरा को मामले की जांच कर रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए थे. इस मामले में आज कलेक्टर ने कई अहम खुलासे किए हैं.

यह भी पढ़ें-  भागलपुर के बाल सुधार गृह से फरार हुए पांच बच्चे, छापेमारी शुरू

इससे पहले भी कुंदर कुटीर आश्रय गृह से बच्चियों के भागने की घटनाएं हुई थी, लेकिन रचना भारती और उसके पति ने अपने राजनीतिक रसूख का इस्तेमाल कर मामले को रफादफा करवा दिया था. इसी रसूखदारी के चलते रचना जिला बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष भी बन गई थी. अपने एनजीओ के माध्यम से लंबे समय से वह कुंदन कुटीर आश्रय गृह संचालित कर रही थी. गिरफ्तारी के बाद पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है, जिसमें कई अन्य लोगों के नाम भी सामने आ सकते हैं.

यह भी पढ़ें-  दुर्ग: बाल संप्रेक्षण गृह से 13 अपचारी बालक फरार, तीन को पकड़ा

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

यूनियन बजट 2019 के लाइव अपडेट्स के लिए यहां क्लिक करें....
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज