शनि जयंती 3 जून को, 149 वर्ष बाद बन रहा ऐसा महायोग कि बदल जाएगा भाग्य

News18 Madhya Pradesh
Updated: May 30, 2019, 8:09 PM IST
शनि जयंती 3 जून को, 149 वर्ष बाद बन रहा ऐसा महायोग कि बदल जाएगा भाग्य
शनिदेव

इस बाद शनि जयंती 3 जून को पड़ रहा है. ऐसा संयोग 149 वर्ष बाद बन रहा है कि न्याय के देवता शनि व केतु का मिलन देव गुरु धनु की राशि में हो रहा है.

  • Share this:
अगले माह 3 जून को शनि जयंती है. अमावस्या को शनि जयंती पड़ने से इस बार महायोग बन रहा है. इसके साथ ही 149 वर्ष बाद न्याय के देवता शनि व केतु का मिलन देव गुरु धनु की राशि में हो रहा है. इसके पहले 30 मई 1870 को शनि जयंती पर ये योग बना था. इस योग के प्रभाव से शनि से जुड़ी राशि वालों को खास लाभ होगा. दूसरी ओर मंगल से जुड़ी राशि वालों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ेगा. रतलाम के जाने माने ज्योतिषी अभिषेक जोशी ने यह दावा किया है. जोशी अपरा एकादशी को लोगों को शनि जयंती का महत्व समझा रहे थे.

न्याय व कर्म के देवता हैं शनि

शनि को न्याय व कर्म के देवता का माना जाता है. हिंदू पंचाग अनुसार ज्येष्ठ महीने के कृष्णपक्ष की अमावस्या को शनि जयंती मनाया जाता है. इस बार ये उत्सव का दिन सोमवार को आ रहा है, इसलिए इस दिन सोमवती अमावस्या भी मनाई जाएगी. इस दिन विवाहित महिलाएं ने पति की लंबी आयु की कामना के साथ वट सावित्री की पूजा करेंगी.

महादेव और हनुमान जी की पूजा से होती है कृपा

शनिदेव की कृपा पाना आसान है. शनि महादेव और हनुमानजी की पूजा करने वालों पर प्रसन्न होते हैं. शनि जयंती के दिन न तो नाखून काटें और न ही बाल कटवाएं. इससे आर्थिक नुकसान होता है.

ऐसे करें शनि पूजा
स्नान-ध्यान के बाद लकड़ी के एक पाटे पर काला वस्त्र बिछाकर शनिदेव की मूर्ति या फोटो या एक सुपारी रखें. फिर उसके दोनों तरफ शुद्ध घी या तेल के दीपक से धूप जलाएं. शनिदेव के उस प्रतीक स्वरूप को पंचामृत, इत्र आदि से स्नान कराएं. इसके बाद गुलाल, सिंदूर व काजल लगाने के बाद नीले फूल व काला तिल अर्पित करें. इमरती व तेल में तले पकवान प्रसाद स्वरूप अर्पित करें. शनि मंत्र का जप करना अनिवार्य होता है. शनि चालीसा का पाठ कर शनिदेव की आरती उतारें.
Loading...

राशि अनुसार करें दान
मेष व वृश्चिक राशि वाले काला तिल, वृषभ व तुला राशि वाले काले उड़द, मिथुन व कन्या राशि वाले हरे मुंग, कर्क राशि वाले गन्ना का रस, सिंह राशि वाले मिठाई, धनु व मीन राशि वाले काले वस्त्र, मकर व कुंभ राशि वाले चमेली या सरसों के तेल को दान करें तो लाभ होगा.

ये भी पढ़ें-
ज्योतिष: पाप ग्रहों के प्रभाव से हैं परेशान तो आज ही दान करें ये सामान, दूर हो जाएंगे सारे कष्ट

किन ग्रहों के कारण होती है परिवार में कलह?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रतलाम से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 30, 2019, 8:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...