होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /जयपुर में सीरियल ब्लास्ट के लिए रतलाम के इमरान ने दी थी बम बनाने की ट्रेनिंग, पढ़ें- NIA के अहम खुलासे

जयपुर में सीरियल ब्लास्ट के लिए रतलाम के इमरान ने दी थी बम बनाने की ट्रेनिंग, पढ़ें- NIA के अहम खुलासे

जयपुर ब्लास्ट केस के तार रतलाम से जुड़े हैं.

जयपुर ब्लास्ट केस के तार रतलाम से जुड़े हैं.

राजस्थान के जयपुर में सीरियल बम धमाकों की साजिश रचने वाले 11 आरोपियों के खिलाफ एनआईए (NIA) ने जयपुर कोर्ट में चार्जशीट ...अधिक पढ़ें

जयदीप गुर्जर/रतलाम. राजस्थान के जयपुर में सीरियल बम धमाकों की साजिश के तार मध्य प्रदेश के रतलाम से जुड़े हैं. सभी आरोपियों के तार आतंकवादी संगठन की स्लीपर सेल सूफा से जुड़े हैं. बताया जा रहा है कि मास्टर माइंड आतंकी इमरान पिता मोहम्मद शरीफ खान रतलाम के विरियाखेड़ी स्थित अपने खेत में बने फॉर्म हाउस में आईईडी (इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस) एक तरह का जुगाड़ बम बनाने की ट्रेनिंग सह आरोपियों को देता था.

एनआईए चार्जशीट में बताया कि बम बनाने का सामान इन्होंने रतलाम के बाजार से ही खरीदा था. दरअसल चित्तौड़गढ़ जिले के निंबाहेड़ा में राजस्थान पुलिस ने 30 मार्च 2022 को चेकिंग के दौरान बोलेरो में सवार जुबेर, अल्तमस और सरफुद्दीन उर्फ सैफुल्लाह को बम बनाने की सामग्री व इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के साथ पकड़ा था, जिसके बाद मामले कि जांच एनआईए (NIA) को सौंप दी गई. रतलाम सहित अन्य ठिकानों से 8 और आरोपियों को गिरफ्तार किया. इन सभी आरोपियों के खिलाफ जयपुर कोर्ट में आरोप – पत्र पेश किया गया.

एनआईए की रडार पर आरोपी
मामले में 11 आरोपी इस समय एनआईए की रडार पर हैं. उन पर विशेष निगरानी रखी जा रही है. पूरे मामले में एनआईए ने गिरफ्तार इमरान खान पिता मोहम्मद शरीफ खान, अमीन खान उर्फ अमीन पावड़ा पिता असलम खान, मोहम्मद अमीन पिता समद पटेल, सैफुल्ला उर्फ सैफू पिता रामजानी अली, अल्तमश खान, जुबेर खान पिता फकीर मोहम्मद पठान, मजहर खान पिता इसराइल खान, फिरोज खान पिता फकीर मोहम्मद पठान, मोहम्मद यूनुस पिता याकूब साकी, इमरान खान पिता मोहम्मद यूनुस सभी निवासी रतलाम और आकिफ पिता अतीक निवासी ठाणे, महाराष्ट्र के खिलाफ आरोप पत्र पेश किया.

इमरान देता था जुगाड़ बम बनाने की ट्रेनिंग
आरोपी इमरान, अल्तमश आमीन पावड़ा, आमीन पिता अब्दुल समद व जुबेर के रतलाम स्थित मकान अप्रैल में तोड़े गए थे. सूफा के सभी आरोपी आईएसआईएस (ISIS) की आतंकी गतिविधियों से प्रभावित हैं. जांच में सामने आया कि इस पूरे मामले का मास्टर माइंड इमरान खान है. सभी सह आरोपी आतंकवादी संगठन की स्लीपर सेल के सदस्य हैं. इन्होंने आतंकवादी घटना को अंजाम देने की साजिश रची थी. साजिश को आगे बढ़ाने के लिए ये हथियार, गोला बारूद, युद्ध छेड़ने के लिए विस्फोटक सामग्री तैयार कर रहे थे. मास्टर माइंड इमरान खान रतलाम के विरियाखेड़ी स्थित अपने खेत में अन्य सह-आरोपियों को आईईडी बनाने और असेम्बल करने का प्रशिक्षण देता था. आईईडी एक तरह का जुगाड़ बम होता है.

आतंकियों की स्लीपर सेल “सूफ़ा”
रतलाम सहित कई जिलों में पैर पसार रहा सूफा ग्रुप मुस्लिम कट्टरपंथी सोच को बढ़ावा देने का काम कर रहा है. सूफा संगठन कि स्थापना रतलाम में 2012-13 में हुई थी. इस संगठन से जुड़े लोगों पर रतलाम में हिंदू संगठन से जुड़े तीन लोगों की हत्या का भी आरोप है. रतलाम में इसमें करीब 40 से 50 युवकों के जुड़े होने की बात सामने आई है. यह ग्रुप मुस्लिम समाज में कट्टरपंथी विचारों को फैलाकर युवाओं को बरगलाता है. यह आतंकियों के स्लीपर सेल की तरह काम करता है। ग्रुप समाज में रहन-सहन के तौर – तरीके अपने हिसाब से चलाने के लिए विवादों में रहा है. मुस्लिम समाज में शादी तथा अन्य रीति – रिवाजों को हिंदी रीति – रिवाज बताकर विरोध भी किया था.

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें