मध्य प्रदेश: सास-ससुर ने बेटी की तरह विधवा बहू का विवाह कर घर से किया विदा
Bhopal News in Hindi

मध्य प्रदेश: सास-ससुर ने बेटी की तरह विधवा बहू का विवाह कर घर से किया विदा
दूल्हा, दुल्हन ने अपने-अपने राज्यों की सीमा पर ही निकाह कर एक-दूसरे को कबूल कर लिया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लॉकडाउन-3 (Lockdown-3) में एमपी के रतलाम जिले में एक ऐसा विवाह हुआ जिसमें 3 परिवारों के लोग शामिल हुए और सास-ससुर ने बहू का कन्यादान किया.

  • Share this:
रतलाम. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में लॉकडाउन-3 (Lockdown 3.0) के दौरान एक अनोखा विवाह कार्यकम हुआ. प्रदेश के रतलाम (Ratlam) जिले में सास-ससुर ने अपनी विधवा बहू का बेटी की तरह विवाह कर दिया. आठ साल पहले सास-ससुर जिस लड़की को बहू बनाकर घर लाए थे, उसे बेटी की तरह विदा कर दिया. सास-ससुर ने अपनी बढ़ती उम्र को देख अपनी बहू का फिर से विवाह कराने का निश्चय किया था. पूरे रीति-रिवाज के साथ विवाह के बाद बहू को अपने घर से विदा किया. खुशियों भरी इस शादी में लॉकडाउन भी आड़े नहीं आया. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए तीन परिवारों के सीमित सदस्यों की उपस्थिति में ही विवाह की सभी रश्में पूरी कर ली गईं.

काटजू नगर निवासी 65 साल की सरला जैन के बेटे मोहित जैन की शादी आष्टा निवासी सोनम के साथ करीब 8 साल पहले हुई थी. शादी के 3 साल तक सब कुछ ठीक था. इसके बाद मोहित को कैंसर होने की बात सामने आई. सोनम ने तीन वर्षों तक पति की सेवा की, लेकिन मोहित कैंसर से जीवन की जंग हार गया. अकेली पड़ी सोनम ने सास-ससुर को अकेले नहीं छोड़ा. वह इन दोनों के पास बेटी की तरह रहने लगी और अपने व्यवहार से सास-ससुर की लाडली बन गई. सास-ससुर ने भी माता-पिता बनकर सोनम को बेटी की तरह रखा. वहीं सोनम ने भी सास-ससुर को माता-पिता की मान-सम्मान देकर खूब सेवा की.

'बहू की तो सारी जिंदगी बाकी'
ससुर ऋषभ ने बताया कि 8 साल पहले बेटे की शादी कर बहू को घर लाए थे, पर बेटा तो तीन साल बाद ही दुनिया छोड़ कर चला गया और बहू बेटी बनकर यहां रह गई. हमारी तो उम्र हो चली है और बहू की तो सारी जिंदगी बाकी है. यही सोचकर नागदा के रहने वाले सौरभ जैन से उसकी शादी कर दी गई. सौरभ अच्छा काम करता है, हमारी बहू भी पढ़ी-लिखी और समझदार है. हम दुआ करते हैं कि वे हमेशा खुश रहे.’ परिजनों ने विवाह के लिए नागदा में होटल बुक किया था, लेकिन लॉकडाउन होने से सब धरा का धरा रह गया. ऐसी स्थिति में मोहित के मामा ललित कांठेड़ ने प्रशासन से बात कर अपने ही घर पर ही सोनम की शादी की सारी व्यवस्था करवा दी.
सास-ससुर की आंखों से छलके आंसू


सास-ससुर ने अपनी बहू सोनम को बेटी बना कर विदा किया तो उनकी आंखों से आंसू छलक पड़े. इस शादी पर सास सरला जैन ने कहा कि बहू की शादी इसलिए कराई कि अब हम दोनों पति-पत्नी ही रह गए थे. हमारी उम्र हो चली है, लेकिन बहू की उम्र तो बाकी है. हमारे चले जाने के बाद बहू अपनी जिंदगी अकेले कैसे काटती, इसलिए उसकी शादी कराई. हमने बहू को बेटी के रूप में विदा किया.

ये भी पढ़ें -

छात्र ने 11वीं मंजिल से कूदकर दी जान, ब्‍वॉयज लॉकर रूम केस में चल रही थी जांच

नई एडवाइजरी जारी, हाईकोर्ट में कल से बिना कोट, गाउन के वकीलों को बहस की छूट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज