अपना शहर चुनें

States

फिल्मी निकली RSS कार्यकर्ता की हत्या की कहानी, पुराने साथी को मारकर पहनाए अपने कपड़े!

पुलिस ने जब लाश की पहचान करने वालों से बारीकी से पूछताछ की कई अहम सुराग हाथ लगे
पुलिस ने जब लाश की पहचान करने वालों से बारीकी से पूछताछ की कई अहम सुराग हाथ लगे

सनसनीखेज मामले में मृतक बताया जा रहा हिम्मत पाटीदार ही आरोपी निकला. उसनेअपने पुराने कर्मचारी की हत्या कर उसे हिम्मत पाटीदार बना दिया

  • Share this:
मध्य प्रदेश के रतलाम जिले में आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या की कहानी फ़िल्मी निकली. इस सनसनीखेज मामले में मृतक बताया जा रहा हिम्मत पाटीदार ही आरोपी निकला. जिसमें अपने बीमे की 20 लाख की राशि के लिए अपने पुराने कर्मचारी की हत्या कर उसे हिम्मत पाटीदार बना दिया. हिम्मत पाटीदार पर 8 लाख का कर्ज था.

दरअसल, हिम्मत पाटीदार ने बीमे की 20 लाख की राशि के लिए अपने पुराने कर्मचारी मदन मालवीय की हत्या कर दी और उसकी लाश के पास अपना पर्स रखकर उसे हिम्मत पाटीदार बना दिया. इतना ही नहीं आरोपी हिम्मत ने मृतक मदन मालवीय की हत्या करने के बाद उसका चेहरा भी जला दिया ताकि उसकी पहचान नहीं हो सके. लेकिन डीएनए रिपोर्ट ने हिम्मत की इस साजिश पर पानी फेर दिया.

स्वच्छता सर्वेक्षण 2019: पब्लिक फीडबैक में यूपी के इस शहर से पिछड़ा इंदौर!



हिम्मत ने इस साजिश को अंजाम देने के लिए अपनी ही कदकाठी के व्यक्ति, पुराने कर्मचारी मदन मालवीय को चुना, जिसे गाड़ी पर बैठाकर वह अपने खेत पर ले गया उसकी गला काटकर हत्या कर दी और लाश को अपने कपडे पहनाकर अपने दस्तावेज और डायरी उसके पेंट की जेब में रख दिए.
हिम्मत के खेत पर काम करने वाला पुराना कर्मचारी मदन मालवीय लापता था जिससे इस पूरे मामले में पुलिस को पहले दिन से ही शक था और डीएनए रिपोर्ट नेगेटिव आने पर पुलिस का शक पुख्ता हो गया. पुलिस ने अपनी जांच को आगे बढ़ाया और हिम्मत पाटीदार के लेन देन की जांच की तो पता चला की उस पर 8 लाख रूपए का कर्ज है और उसने दिसंबर 2018 में ही 20 लाख का एक्सीडेंटल बीमा भी करवाया है.

पुलिस ने जब हिम्मत की लाश की पहचान करने वालों से बारीकी से पूछताछ की कई अहम सुराग हाथ लगे. लाश से कुछ दूर ही मृतक मदन मालवीय के जूते मिले तो पुलिस हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में कामयाब हो गई.

फिलहाल घटना के बाद से ही आरोपी हिम्मत पाटीदार फरार है जिस पर पुलिस ने 10 हजार का ईनाम घोषित किया है. पुलिस को उम्मीद है कि इस मामले में हिम्मत के साथ कुछ और लोग भी शामिल हो सकते हैं जिनकी जानकारी आरोपी की गिरफ़्तारी के बाद ही सामने आएगी.

यह पढ़ें- इमरती देवी मामले में बोले सिंधिया- ऐसी बात करने वालों में नहीं है संवेदनशीलता
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज