अपना शहर चुनें

States

सीएम हेल्पलाइन पर चार बार शिकायत दर्ज कराने पर भी दिव्यांग शिक्षक की सुनवाई नहीं

 सीएम हेल्प लाइन की उदासीनता की पोल खोलते दिव्यांग शिक्षक
सीएम हेल्प लाइन की उदासीनता की पोल खोलते दिव्यांग शिक्षक

रतलाम के धामनोद क़स्बे में एक दिव्यांग शिक्षक रसूखदारों की दबंगई से परेशान है. इस दिव्यांग का आरोप है कि गांव के ही कुछ दबंग लोग उसके पैतृक मकान को हड़पना चाहते हैं. अपने घर को बचाने के लिए वह सरकारी दफ्तरों के चक्कर काट रहा है लेकिन कोई उसकी फरियाद नहीं सुन रहा.

  • Share this:
रतलाम के धामनोद क़स्बे में एक दिव्यांग शिक्षक रसूखदारों की दबंगई से परेशान है. इस दिव्यांग का आरोप है कि गांव के ही कुछ दबंग लोग उसके पैतृक मकान को हड़पना चाहते हैं. अपने घर को बचाने के लिए वह सरकारी दफ्तरों के चक्कर काट रहा है लेकिन कोई उसकी फरियाद नहीं सुन रहा. हद तो तब हो गई जब सीएम हेल्पलाइन में चार बार शिकायत दर्ज कराने क बाद भी संबंधित अधिकारियों कर्मचारियों ने बिना कार्रवाई के ही उसकी फाइल बंद कर दी. अब यह परेशान दिव्यांग सरकारी व्यवस्था को कोस रहा है.

शिक्षक राजेश परमार का कहना है कि गांव का ही एक दबंग फर्जी दस्तावेज तैयार कर उनके मकान को हड़पने की कोशिश कर रहा है. इस दबंग ने धमकी भी दी है कि मकान को उसकी शर्तो पर उसे नहीं बेचा तो वो उस पर जबरन कब्ज़ा कर लेगा. इसकी शिकायत पीड़ित ने नगर परिषद् से लेकर  सीएम  हेल्प लाइन तक की लेकिन प्रशासन के कानों पर जू तक नहीं रेंगी.  इस मामले में नगर परिषद् धामनोद के सीएमओ लक्ष्मीकांत शर्मा गोलमोल जवाब देते नजर आ रहे हैं.  वहीं अपर कलेक्टर ने मामले की जांच कर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज