अपना शहर चुनें

States

रतलाम तिहरा हत्याकांडः साइको किलर था एनकाउंटर में मारा गया दिलीप, Video देखकर सीखता था क्राइम का तरीका

दिलीप देवल पर हत्या के 6 केस दर्ज हैं.
दिलीप देवल पर हत्या के 6 केस दर्ज हैं.

मध्य प्रदेश के रतलाम (Ratlam Triple Murder) में सैलून संचालक समेत 3 लोगों की हत्या करने वाले अपराधी दिलीप देवल का पुलिस ने किया एनकाउंटर (Police Encounter). सीएम शिवराज सिंह (CM Shivraj Singh Chouhan) ने रतलाम पुलिस की तारीफ की है.

  • Share this:
रतलाम. मध्य प्रदेश के रतलाम में सैलून संचालक समेत 3 की हत्या (Ratlam Triple Murder) करने वाले आरोपी बदमाश दिलीप देवल को पुलिस ने कल रात एनकाउंटर (Encounter) में मार गिराया. आरोपी के एनकाउंटर के बाद पुलिस ने नया खुलासा किया है. पुलिस के मुताबिक दिलीप साइको किलर था. उसका मक़सद लूटपाट रहता था, लेकिन लूट के शिकार लोग उसे पहचान कर गवाही न दे दें इसलिए वो उनकी हत्या कर देता था. दिलीप पर हत्या के 6 मामले दर्ज थे. उसकी गैंग के सभी सदस्य नशेड़ी थे. रतलाम पुलिस की इस कार्रवाई की प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने तारीफ की है. सीएम ने ट्वीट कर पुलिस की सराहना की.

दिलीप देवल का नाम उस समय चर्चा में आया जब उसने 25 नवंबर की रात रतलाम के राजीव नगर में एक घर में घुसकर सैलून संचालक 50 साल के गोविंद, उनकी पत्नी शारदा और 21 साल की बेटी दिव्या की गोली मारकर हत्या कर दी थी. उसके बाद वो और उसका साथी घर में रखी नगदी और ज़ेवर लेकर फरार हो गए थे. पुलिस के अनुसार दिलीप देवल साइको किलर है. उसकी गैंग के कई सदस्य नशे के आदि हैं.

वीडियो देखकर सीखते थे अपराध
ये गैंग मोबाइल पर लूट और हत्या के वीडियो देखकर वारदात का तरीका सीखता है. इसी गैंग ने इसी साल 18 जून को भी रतलाम में प्रेमकुंवर नाम की महिला के घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी थी और फिर लूटपाट कर भाग गए थे. गैंग के निशाने पर खासतौर पर अकेली ऐसी महिला या छोटा परिवार होता था जहां उन्हें लूट के लिए संघर्ष नहीं करना पड़े और कोई गवाह ना बचे. इसलिए वो मौके पर मौजूद सभी लोगों की हत्या कर देता था.
50 हजार का इनाम


रतलाम पुलिस का मोस्ट वांटेड और 50 हजार का इनामी बदमाश दिलीप देवल गुरुवार रात पुलिस मुठभेड़ में मारा गया. पुलिस को सूचना मिली थी कि दिलीप मिड टाउन कॉलोनी के पास किराये के मकान में रह रहा है. वो जब खाचरोद रोड के पास खेत में से गुजर रहा था तभी पुलिस को सूचना मिली. पुलिस ने आरोपी को सरेंडर कहने के लिए कहा लेकिन दिलीप ने पुलिस पर ही फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस की जवाबी फायरिंग में मोस्ट वांटेड दिलीप देवल मारा गया.



पुलिस ने की पुष्टि
रतलाम रेंज के डीआईजी सुशांत सक्सेना ने पूरे मामले की पुष्टि की. DIG  का कहना है आरोपी को सरेंडर करने के लिए कहा तो उसने पुलिस पर गोलियां चलाईं. उसके बाद पुलिस ने आत्मरक्षा में गोली चलाई तो आरोपी मारा गया. इस मुठभेड़ में 5 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं जिनमे 2 सब इंस्पेक्टर और 3 आरक्षक शामिल हैं. सभी को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. दिलीप पर हत्या के 6 मामले दर्ज है जिसमे 4 रतलाम में और 2 गुजरात में हैं.

5 साथी पहले ही गिरफ्तार
दिलीप देवल गैंग के 5 बदमाश पकड़े जा चुके थे, बस दिलीप फरार था. पुलिस को सूचना मिली थी कि दिलीप उज्जैन से आया है और खेत की पगडंडियों से मिड टॉउन कॉलोनी की ओर आगे बढ़ रहा है.  तभी पुलिस की STF मौके पर पहुंची. पुलिस ने दिलीप देवल को चेतावनी दी और उसे सरेंडर करने के लिए कहा. लेकिन दिलीप ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस की जवाबी फायरिंग में दिलीप को गोली लग गई और उसकी मौत हो गई.घटना की सूचना पर एसपी सहित पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटना स्थल का मुआयना किया. वही इस घटनाक्रम की तुलना लोग यूपी के बहुचर्चित इनकाउंटर विकास दुबे एनकांटर से कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज