अपना शहर चुनें

States

किसानों को नीलगायों के आतंक से मुक्ति के लिए नसबंदी अभियान

खेतों के बीच नील गाय का झुंड
खेतों के बीच नील गाय का झुंड

रतलाम जिले में अब नीलगायों के आतंक से किसानों को मुक्ति मिलने वाली है. वन विभाग अब बोमा पद्धति से नील गायों की नसबंदी करने जा रहा है. वन विभाग को उम्मीद है की यह पद्धति नीलगायों की जनसंख्या पर नकेल कसेगी.

  • Share this:
रतलाम जिले में अब नीलगायों के आतंक से किसानों को मुक्ति मिलने वाली है. वन विभाग अब बोमा पद्धति से नील गायों की नसबंदी करने जा रहा है. मंदसौर और उज्जैन में इस पद्धति के अच्छे रिजल्ट आने के बाद अब जिले के वन विभाग को उम्मीद है की रतलाम में भी यह पद्धति नीलगायों की जनसंख्या पर नकेल कसेगी. इससे जिले में फसलों के लिए आफत बन चुकी इन नील गायों से किसानों को अब छुटकारा मिलने की उम्मीद है.

रतलाम जिले के जावरा,पिपलौदा,सैलाना ब्लॉक सहित 50 से ज्यादा गांव ऐसे है जहां नीलगायों का खासा आतंक है. इन गांवों के 50 हज़ार से ज्यादा किसान नीलगायों द्वारा हर साल की जा रही फसलों की तबाही से तंग आ चुके हैं. इसकी शिकायत वह आए दिन वन विभाग में भी करते हैं. अब वन विभाग मंदसौर और उज्जैन के बाद रतलाम में बोमा पद्धति से नील गायों की नसबंदी करेगा, जिसकी प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की जा रही है.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज