लाइव टीवी

होली की ऐसी परंपरा जहां दहकते अंगारो पर चलते हैं लोग..!

Sudhir Jain | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 2, 2018, 7:57 PM IST
होली की ऐसी परंपरा जहां दहकते अंगारो पर चलते हैं लोग..!
यहां लोग दहकते अंगारो पर चलते हैं. इसे चूल पर चलना कहते हैं.

किसी भी को इस आग से कोई नुकसान नहीं होता. श्रद्धालु इसे मां शीतल का चमत्कार बताते हैं.

  • Share this:
बदलते वक्त के साथ जहां सब कुछ बदल रहा है लेकिन कुछ परम्पराएं ऐसी है जो आज भी बदस्तूर जारी है. ऐसी ही एक परंपरा मध्य प्रदेश में रतलाम सहित आसपास के कई कस्बो में जारी है. यहां लोग दहकते अंगारो पर चलते हैं. इसे चूल पर चलना कहते हैं.

होली के दिन इस चूल आयोजन किया जाता है जहां अपनी मन्नत पूरी होने पर श्रद्धालु आग के इन शोलों पर चलकर अपनी आस्था व्यक्त करते हैं. चमत्कार ऐसा कि इन श्रद्धालुओं को इस आग से कोई नुकसान नहीं होता है और सदियों से ये परंपरा चली आ रही है.

रतलाम के खातीपुरा स्थित शीतलामाता मंदिर में भी आज चूल का आयोजन किया गया. जहां सैकड़ो श्रद्धालु नंगे पैर, दहकते अंगारो पर चलते हुए नजर आए. कुछ लोग मन्नतों के पूरा होने पर तो कई श्रद्धालु, आस्था से ही इन आग के शोलो पर से गुजरे.

लेकिन किसी भी को इस आग से कोई नुकसान नहीं हुआ. श्रद्धालु इसे मां शीतल का चमत्कार बताते हैं. इस चूल पर चलने के लिए बड़ी संख्या में पुरुषों और महिलाओं सहित बच्चे भी पहुंचे. इन लोगों में इस आयोजन को लेकर खासा उत्साह नजर आया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रतलाम से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 2, 2018, 7:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर