व्यापम के व्हिसल ब्लोअर ने गृह मंत्री का किया बचाव, कहा-एक रिपोर्ट अभी बाकी!

व्यापम

पारस सकलेचा ने कहा की गृहमंत्री ने पुलिस की एफआईआर और दस्तावेजों के आधार पर बयान दिया है, ना कि जैन आयोग की रिपोर्ट के आधार पर!

  • Share this:
मंदसौर गोलीकांड समेत कई मुद्दों पर पिछली बीजेपी सरकार में गृहमंत्री बाला बच्चन द्वारा पुलिस को क्लीनचिट देने के मामले में अब बयानों का दौर शुरू हो गया है. व्यापम के व्हिसल ब्लोअर पारस सकलेचा ने इस मामले में अब गृहमंत्री का बचाव किया है. पारस सकलेचा ने कहा की गृहमंत्री ने पुलिस की एफआईआर और दस्तावेजों के आधार पर बयान दिया है, ना कि जैन आयोग की रिपोर्ट के आधार पर.

पारस सकलेचा ने कहा कि जैन आयोग की रिपोर्ट विधानसभा के पटल पर रखना अभी बाकी है, जिसके बाद इस मामले में कुछ निकलकर सामने आ सकता है. वहीं सकलेचा ने जैन आयोग को पूर्व सीएम के इशारे पर काम करने वाला निकम्मा आयोग बताया है, जिसकी रिपोर्ट भी तात्कालिक सरकार का बचाव करने वाली ही होगी. पारस सकलेचा मंदसौर गोलीकांड पर किताब लिख चुके है और इस मामले में हाईकोर्ट तक गए है.

गरीब सवर्णों को आरक्षण का मामला: विधानसभा में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किया ये ऐलान

दरअसल, कमलनाथ सरकार ने पिछली बीजेपी सरकार के दौरान हुए कुछ घटनाओं पर नरम रुख अपनाया है. मंदसौर गोलीकांड की जांच, नर्मदा के किनारे प्लांट, यहां तक कि व्यापम घोटाले पर भी सरकार के बयान पर खुद कांग्रेस नेताओं ने सवाल खड़े किए थे.

यहां तक कि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भी कमलनाथ सरकार के फैसले पर सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने कहा कि सरकार में मंत्रियों को शिवराज सरकार को क्लीन चिट नहीं देना चाहिए. दिग्विजय सिंह के इस बयान के बाद गृह मंत्री बाला बच्चन ने सफाई दी कि हमने किसी को क्लीन चिट नहीं दी है. इतना ही नहीं मामले में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी विधानसभा में सफाई दी है.

यह भी पढ़ें- कांग्रेस विधायक ने दिया इस्तीफा, छिंदवाड़ा सीट से चुनाव लड़ेंगे मुख्यमंत्री कमलनाथ

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.