होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Ratlam News: कलेक्टर ने लगाई फटकार तो महिला डॉक्टर के निकले आंसू, जानें पूरा माजरा

Ratlam News: कलेक्टर ने लगाई फटकार तो महिला डॉक्टर के निकले आंसू, जानें पूरा माजरा

Ratlam News: सीएमएचओ ने अस्पताल में आई हुई सभी महिलाओं से पूछा कि सोनोग्राफी के दौरान उनसे किसी ने पैसे तो नहीं लिए? इस ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- जयदीप गुर्जर

रतलाम. मध्यप्रदेश के रतलाम जिले में लगातार स्वास्थ सेवाओं की डगमगाती तस्वीरें निकलकर सामने आ रही है. बुधवार को रतलाम के मातृत्व शिशु इकाई (MCH) में गर्भवती महिला ने डॉक्टर के दुर्व्यवहार की शिकायत सीधे कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी को फोन पर की. शिकायत के बाद कलेक्टर ने तुरंत जांच के लिए तहसीलदार को भेज दिया. इसी दौरान कलेक्टर ने सीएमएचओ को भी फोन पर फटकार लगाई. जांच दल के पहुंचने पर स्वास्थ्य विभाग के अमले में हड़कंप मच गया. वहीं सीएमएचओ भी दौड़े-दौड़े अस्पताल पहुंचे और महिला डॉक्टर को अपने व्यवहार में सुधार लाने की चेतावनी दी.

दरअसल, रावटी की दीपिका मालवीय सोनोग्राफी के लिए एमसीएच आई थी. ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर प्रीति रायकवार ने 5वें और 9वें महीने में सोनोग्राफी की बात कहते हुए सोनोग्राफी करने से मना कर दिया. डॉक्टर रायकवार ने महिला को कक्ष संख्या- 3 में जाने की बात कही. फरियादी महिला का कहना था कि अस्पताल की नर्स ने ही सोनोग्राफी लिखी है, इसके बावजूद डॉक्टर ने सोनोग्राफी से साफ इंकार कर दिया.

इस पूरे मामले में बातचीत का एक वीडियो भी वायरल हुआ है. कलेक्टर के निर्देश पर मौके पर तहसीलदार मनोज चौहान पहुंचे और डॉक्टर सहित महिला के बयान लिए. बयान लेने के दौरान डॉक्टर रायकवार रो पड़ी. डॉक्टर कहने लगी कि 10 साल की जॉब में आज तक ऐसा कभी नहीं हुआ. किसी को मुझसे से शिकायत नहीं हुई.

महिला चिकित्सक डॉ. प्रीति रायकवार.

महिला चिकित्सक डॉ. प्रीति रायकवार.

तहसीलदार मनोज चौहान ने बताया कि रावटी की महिला ने डॉक्टर प्रीति रायकवार की शिकायत की थी. बयान लेकर रिपोर्ट वरिष्ठ अधिकारी को सौंपी जाएगी.

सीएमएचओ ने पूछा पैसे तो नहीं लिया
महिला की शिकायत के बाद कलेक्टर ने सीएमएचओ (CMHO) डॉ. प्रभाकर ननावरे को भी लताड़ लगाई. इसके बाद सीएमएचओ एमसीएच पहुंचे. उन्होंने महिला से जानकारी ली. महिला ने सीएमएचओ को बताया कि महिला चिकित्सक डॉ. प्रीति रायकवार का व्यवहार अच्छा नहीं था. सीएमएचओ ने डॉ. प्रीति रायकवार को सख्त लहजे में चेतावनी देते हुए कहा कि किसी भी मरीज के साथ ऐसा व्यवहार नहीं होना चाहिए. आगे से इस प्रकार की कोई भी घटना संज्ञान में आती है तो कठोर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी.

सीएमएचओ ने अस्पताल में आई हुई सभी महिलाओं से पूछा कि सोनोग्राफी के दौरान उनसे किसी ने पैसे तो नहीं लिए? इस दौरान वहां मौजूद महिलाओं ने इससे इंकार कर दिया. वहीं डॉक्टर प्रीति रायकवार ने सीएमएचओ को बताया कि भीड़ काफी रहती है. महिलाएं एक साथ आकर जल्दी करती है. ऐसा मेरा कोई उद्देश्य नहीं था.

Tags: Government Hospital, Madhya Pradesh government, Mp news, Ratlam news, Women hospital assault

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें