Home /News /madhya-pradesh /

पत्‍नी और ससुरालवालों की प्रताड़ना से तंग आकर खाई नींद की गोलियां

पत्‍नी और ससुरालवालों की प्रताड़ना से तंग आकर खाई नींद की गोलियां

पत्नी और ससुरालवालों की प्रताड़ना से तंग आकर बड़नगर सीएमओ के दामाद ने सोमवार सुबह 11 पेज का सुसाइड नोट लिखा और वाट्सएप पर डालकर नींद की गोलियां खा लीं। सुसाइड नोट में उसने आत्महत्या के लिए ससुरालवालों को जिम्मेदार ठहराया। युवक के पिता सिंचाई विभाग में कर्मचारी हैं और धोलावड़ डेम बासिंद्रा में पदस्थ हैं। माणकचौक पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पत्नी और ससुरालवालों की प्रताड़ना से तंग आकर बड़नगर सीएमओ के दामाद ने सोमवार सुबह 11 पेज का सुसाइड नोट लिखा और वाट्सएप पर डालकर नींद की गोलियां खा लीं। सुसाइड नोट में उसने आत्महत्या के लिए ससुरालवालों को जिम्मेदार ठहराया। युवक के पिता सिंचाई विभाग में कर्मचारी हैं और धोलावड़ डेम बासिंद्रा में पदस्थ हैं। माणकचौक पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पत्नी और ससुरालवालों की प्रताड़ना से तंग आकर बड़नगर सीएमओ के दामाद ने सोमवार सुबह 11 पेज का सुसाइड नोट लिखा और वाट्सएप पर डालकर नींद की गोलियां खा लीं। सुसाइड नोट में उसने आत्महत्या के लिए ससुरालवालों को जिम्मेदार ठहराया। युवक के पिता सिंचाई विभाग में कर्मचारी हैं और धोलावड़ डेम बासिंद्रा में पदस्थ हैं। माणकचौक पुलिस मामले की जांच कर रही है।

अधिक पढ़ें ...
  • News18
  • Last Updated :
    पत्नी और ससुरालवालों की प्रताड़ना से तंग आकर बड़नगर सीएमओ के दामाद ने सोमवार सुबह 11 पेज का सुसाइड नोट लिखा और वाट्सएप पर डालकर नींद की गोलियां खा लीं। सुसाइड नोट में उसने आत्महत्या के लिए ससुरालवालों को जिम्मेदार ठहराया। युवक के पिता सिंचाई विभाग में कर्मचारी हैं और धोलावड़ डेम बासिंद्रा में पदस्थ हैं। माणकचौक पुलिस मामले की जांच कर रही है।

    एएसआई लालजी परमार ने बताया विजय पिता शिवनारायण कुमावत (24) बड़नगर नगरपालिका सीएमओ अशोक बमोलिया का दामाद है। उसे परिजन ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया। बेहोश होने से बयान दर्ज नहीं हो पाए। उसके पास से 11 पेज का सुसाइड नोट बरामद हुआ। विजय की मां मनोरमा ने बताया सुबह करीब 7 बजे विजय ने चाय बनाने का कहा और दूसरी मंजिल स्थित कमरे में चला गया था। उम्र के कारण सीढ़ियां नहीं चढ़ पाती, इसलिए विजय को बुलाने पड़ोसी शंकर कुमावत और दामाद नारायण कुमावत को बुलाया। दोनों ने देखा तो कमरा अंदर से बंद था। दरवाजा तोड़ा तो विजय बेहोश मिला। उसे अस्पताल लाए। सिविल सर्जन डॉ. आनंद चंदेलकर ने बताया मरीज की तबीयत सुधार पर है। दोस्त दिनेश कुमावत ने बताया वाट्सएप पर मैसेज मिला तो अस्पताल पहुंचे।

    ससुराल से मां ले गई-शिवनारायण ने बताया विजय मकान बनाने के ठेके लेता है। खाचरौद के अशोक बमोलिया की बेटी अनीता से उसकी शादी 28 अप्रैल 2009 में हुई थी। उसके दो बेटे शौर्य व रोशन हैं। एक बेटी भी है। शादी के बाद अनीता छोटी-छोटी बातों पर विवाद कर मायके वालों को बुला लेती थी। 26 अप्रैल 2013 को अनीता की मां साधना व बहन रानी आई और विवाद कर अनीता और दोनों बच्चों को खाचरौद ले गई। सोमवार को खाचरौद में उसके बेटे शौर्य व रोशन की मान का कार्यक्रम था। ससुराल वालों ने उसे नहीं बुलाया। इससे विजय परेशान था।

    आरोप झूठे हैं-बड़नगर सीएमओ अशोक बमोलिया ने बताया सुसाइड नोट में झूठी बातें हैं। बेटी को ससुराल भेजने के लिए चार महीने पहले भी कोशिश की परंतु बात नहीं बनी। सास-ससुर और विजय कोर्ट में बेटी को ठीक से रखने की गारंटी दें और उसे ले जाएं।

    आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

     

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर