लाइव टीवी

CAA के विरोध में बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के 80 से ज्यादा पदाधिकारियों के इस्तीफे

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 23, 2020, 10:30 PM IST
CAA के विरोध में बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के 80 से ज्यादा पदाधिकारियों के इस्तीफे
बीजेपी अलंपख्यक मोर्चा में इस्तीफों का दौर (फाइल फोटो)

सीएए (CAA) और एनआरसी (NRC) के विरोध में बीजेपी से जुड़े 80 मुस्लिम पदाधिकारियों ने इस्तीफा दिया. ये तमाम लोग इंदौर, महू, देवास और खरगोन में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा से जुड़े हुए थे.

  • Share this:
इंदौर. सीएए, एनआरसी लागू करने के विरोध में बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा (BJP minority Cell) के 80 से ज्यादा पदाधिकारियों ने बुधवार को सामूहिक इस्तीफे (Resigned) दिए. इस्तीफा देने वालों में इंदौर (Indore), महू, देवास (Dewas) और खरगोन के भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के पदाधिकारी शामिल हैं. बीजेपी को अलविदा कहने वाले इन कार्यकर्ताओं का कहना था कि इस देश में हिंदू-मुस्लिम मुद्दों का अंत होना चाहिए. लेकिन एक के बाद एक मुद्दे सामने आते जा रहे हैं जिसके चलते अर्थव्यवस्था और रोजगार जैसे मुद्दे पीछे छूटते चले जा रहे हैं

'एक मुद्दा समाप्त होता है तो दूसरा मुद्दा खड़ा हो जाता है'
इंदौर में इस्तीफा देने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं ने मीडिया से कहा कि, 'वर्तमान हालात में देश में भेदभाव चल रहा है. कश्मीर से धारा 370 हटी तो हम लोगों ने कहा कि अच्छा हुआ हम उसके पक्ष में थे कि अब कश्मीर में हम भी जाकर रह सकते हैं. तीन तलाक समाप्त हुआ तब भी हमने कोई हिंदू-मुस्लिम नहीं किया और इस फैसले का स्वागत किया, बाबरी मस्जिद के फैसले में भी माना कि मंदिर के साथ मस्जिद को भी स्थान दिया जा रहा है, लेकिन सवाल यही है कि इस देश में हिंदू-मुस्लिम कब तक चलेगा. एक मुद्दा समाप्त होता है तो दूसरा मुद्दा खड़ा हो जाता है. रोज नए नए मुद्दे सामने ला दिए जाते हैं.'

गिरती अर्थव्यवस्था और रोजगार पर कब होगी बात

अल्पसंख्यक मोर्चा के इन पदाधिकारियों ने कहा कि, 'हमें हिंदु-मुसलमान के बजाय देश की अर्थव्यवस्था, रोजगार की बात करनी चाहिए, देश की तरक्की की बात होनी चाहिए.' बीजेपी के जिम्मेदार पदों पर बैठे नेताओं की कार्यशैली से नाराज इन कार्यकर्ताओं का ये कहना था कि वे सीएए का विरोध करते हैं और प्रस्तावित एनआरसी के साथ ही एनपीआर का भी विरोध करेंगे.

इन पदाधिकारियों ने दिया इस्तीफा
भाजपा से इस्तीफा देने वालों में इंदौर के साथ महू, देवास और खरगोन के भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के पदाधिकारी शामिल हैं. इनमें वसीम खान नगर महामंत्री इंदौर, मुबारक अंसारी कार्यकारिणी सदस्य, शबाना रईस खान पार्षद इटावा देवास, तस्लीम खान जिला अध्यक्ष अल्प संख्यक मोर्चा खरगोन, सईदा खान प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य, रेहान चौधरी नगर उपाध्यक्ष इंदौर, आरिफ शेख मीडिया प्रभारी इंदौर, इमरान पटेल कोदरिया मंडल महू प्रमुख रूप से शामिल हैं. इन सभी का कहना है कि भाजपा अब सबकी पार्टी नहीं रही. यहां सबके लिए इंसाफ नहीं है जिस कानून की जरूरत नहीं थी, उसे खड़ा कर दिया गया इसी के विरोध में पार्टी छोड़ी जा रही है.ये भी पढ़ें -
OPINION: राजगढ़ कलेक्टर मामले के थप्पड़ की गूंज में सियासी शोर ज्यादा है
MP: बीजेपी भी बनाएगी 'माफियाओें की सूची', कांग्रेस का काउंटर प्लान तैयार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 10:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर