होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

MP: लापरवाही की भेंट चढ़ गया 2 हजार मेट्रिक टन अनाज, इस कारण सड़ गया गेंहू और धान

MP: लापरवाही की भेंट चढ़ गया 2 हजार मेट्रिक टन अनाज, इस कारण सड़ गया गेंहू और धान

अनाज सड़ने के बाद बदबू मारने लगा. इसके बाद स्थानीय लोगों ने मामले की शिकायत प्रशासनिक अधिकारियों से की.

अनाज सड़ने के बाद बदबू मारने लगा. इसके बाद स्थानीय लोगों ने मामले की शिकायत प्रशासनिक अधिकारियों से की.

मध्यप्रदेश के रीवा जिले में सरकारी वेयरहाउस में करीब 2 हजार मेट्रिक टन अनाज सड़ने का मामला सामने आया है. जानकारी मिलने के बाद कलेक्टर ने जांच टीम का गठन किया है. मामला त्योंथर जनपद पंचायत क्षेत्र में आने वाले घुमा गांव में स्थित वेयर हाऊस का बताया जा रहा है. वेयरहाउस के मैनेजर की लापरवाही के कारण वेयरहाउस में रखा 2 हजार मेट्रिक टन अनाज सड़ गया. सड़ने के बाद अनाज बदबू देने लगा. जिसकी शिकायत स्थानीय लोगों ने प्रशासन से की. इसके बाद मामले की जानकारी लगी.

अधिक पढ़ें ...

रीवा. रीवा जिले के त्योंथर जनपद पंचायत क्षेत्र में आने वाले घुमा गांव में स्थित वेयर हाऊस में 2 हजार मेट्रिक टन अनाज सड़ने की खबर सामने आई है. मामले की जानकारी मिलने के बाद कलेक्टर ने जांच टीम का गठन कर दिया है. बताया जा रहा है कि वेयरहाउस की मैनेजर की लापरवाही के चलते घुमा गांव में स्थित वेयरहाउस में उचित रखरखाव ना होने के करण 20000 मेट्रिक टन अनाज खराब हो गया. जिसमें गेहूं और धान शामिल है. दरअसल सरकार के द्वारा किसानों से अनाज खरीदा जाता है.

जिसे सुरक्षित रखने के लिए प्रशासन के द्वारा वेयरहाउस का सहारा लिया जाता है. लेकिन वेयरहाउस में भी उचित रखरखाव न होने के चलते अनाज खराब हो जाते हैं. ऐसे ही ताजा मामला सामने आया है रीवा जिले के त्योंथर जनपद पंचायत क्षेत्र से जहां घुमा गांव से. यहां बने वेयरहाउस में मैनेजर की लापरवाही के चलते 20 हजार मैट्रिक टन अनाज खराब हो गया. अनाज सड़ने के बाद बदबू मारने लगा. इसके बाद स्थानीय लोगों ने मामले की शिकायत प्रशासनिक अधिकारियों से की.

जांच के आदेश जारी

जानकारी के मुताबिक घुमा गांव में स्थित वेयरहाउस में 60 हजार मैट्रिक टन अनाज रखने की व्यवस्था है. परंतु प्रशासन के द्वारा वहां पर अधिक मात्रा में अनाज का भंडारण कराया गया. जिसकी वजह से सही रखरखाव न होने के चलते 20000 मेट्रिक टन अनाज खराब हो गया. खराब हुए अनाज में पिछले सीजन में खरीदी गई गेहूं और धान दोनों की बराबर मात्रा है. जो वेयरहाउस के मैनेजर की लापरवाही के चलते सड़न मारने लगी. हालांकि मामले की जानकारी लगते ही तुरंत रीवा कलेक्टर मनोज पुष्प ने मामले पर जांच टीम का गठन किया है. अपर कलेक्टर शैलेंद्र सिंह की मानें तो जांच रिपोर्ट आने के बाद वह उचित कार्रवाई भी करेंगे.

Tags: Madhya pradesh news, Rewa News

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर