रीवा: कोरोना त्रासदी में मदद को आगे आई युवाओं की टीम, इस तरह कर रही लोगों की मदद

कोरोनाकाल में जरूरतमंदों की मददगार युवाओं की टोली, गांव-गांव पहुंचकर कर रहे हैं बेसहारों की मदद.

कोरोनाकाल में जरूरतमंदों की मददगार युवाओं की टोली, गांव-गांव पहुंचकर कर रहे हैं बेसहारों की मदद.

Positive India: कोरोनाकाल में रीवा के कुछ युवाओं की टोली जिले के गांव-गांव का भ्रमण कर जरूरतमंद लोगों की मदद कर रही है. खासकर गरीब और बेसहारा परिवारों के ये टोली खाद्यान्न सामग्री वितरित करती है.

  • Share this:

अर्पित पांडेय 

रीवा. मध्य प्रदेश के रीवा में इन दिनों जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए युवाओं की एक टोली भ्रमण कर रही है, जिसमें तकरीबन आधा सैकड़ा युवाओं का समूह है. यह गांव-गांव नगर और शहर का भ्रमण कर गरीब बेसहारा लोगों तक हर संभव मदद करने पहुंच रहे हैं. जरूरतमंद को राशन का पैकेट दिया जाता है. परेशान लोगों को अस्पताल में भर्ती कराने तक की व्यवस्थाए की जाती है. युवाओं की इस टोली ने अपने समूह का नाम युवा एकता परिषद रखा है. यह बीते 1 माह से लगातार लोगों तक मदद पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं.

कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते लोगों को जागरूक करने के साथ ही जरूरतमंदों तक मदद पहुंचाने वालों की फेहरिस्त लंबी है. इसमें युवाओं का साथ भी खूब मिल रहा है. ऐसे में इस संकट काल में लोगों का मसीहा बन युवाओं की एक टोली रीवा जिले के गांव-गांव और नगर-शहर का भ्रमण कर रही है, जिसके बाद इन युवाओं के द्वारा जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए अपने हाथ आगे बढ़ाए जा रहे हैं. जिसमें गरीब बेसहारा व्यक्ति को इन युवाओं के द्वारा खाद्यान्न सामग्री वितरित की जाती है. यह युवा किसी को कच्चे राशन का पैकेट तो कहीं भोजन के पके हुए पैकेट वितरण करके लोगों का पेट भर रहे हैं.

दरअसल इस संकट काल में मदद के लिए लगातार लोगों के हाथ आगे आते रहे हैं ऐसे में युवा एकता परिषद के बैनर तले तकरीबन आधा सैकड़ा युवाओं की इस टोली ने मानवता की एक अलग ही मिसाल पेश की है. इसके जरिए युवा लगातार लोगों की मदद कर रहे हैं. युवा एकता परिषद में जुड़े हुए युवाओं के द्वारा जरूरतमंद लोगों को चिन्हित किया जाता है, जिसके बाद उन तक मदद पहुंचाने की कोशिश की जाती है. इसके अलावा अस्पताल में भर्ती होने के लिए भी लोगों को काफी जद्दोजहद करनी पड़ती है. ऐसे में परेशान लोग युवा एकता परिषद से मदद की गुहार भी लगाते हैं. तब यह युवा टीम अपने संपर्क के लोगों के माध्यम से उनकी भी मदद करती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज