'ये अस्पताल नहीं नर्क है', ऐसा हमारा नहीं इस जिले के कलेक्टर का कहना है
Rewa News in Hindi

'ये अस्पताल नहीं नर्क है', ऐसा हमारा नहीं इस जिले के कलेक्टर का कहना है
मध्य प्रदेश में सरकारी अस्पताल की दुर्दशा किसी से छुपी नहीं है. ऐसे में जब सिंगरौली जिले के कलेक्टर निरीक्षण के लिए जिला अस्पताल पहुंचे तो उन्होंने लोगों को जिंदगी देने वाले हॉस्पिटल की हालत देख उसे नर्क का दर्जा दे दिया.

मध्य प्रदेश में सरकारी अस्पताल की दुर्दशा किसी से छुपी नहीं है. ऐसे में जब सिंगरौली जिले के कलेक्टर निरीक्षण के लिए जिला अस्पताल पहुंचे तो उन्होंने लोगों को जिंदगी देने वाले हॉस्पिटल की हालत देख उसे नर्क का दर्जा दे दिया.

  • Share this:
मध्य प्रदेश में सरकारी अस्पताल की दुर्दशा किसी से छुपी नहीं है. ऐसे में जब सिंगरौली जिले के कलेक्टर निरीक्षण के लिए जिला अस्पताल पहुंचे तो उन्होंने लोगों को जिंदगी देने वाले हॉस्पिटल की हालत देख उसे नर्क का दर्जा दे दिया.

यह भी पढ़ें- शिव'राज' में अस्पताल बीमार


दरअसल, नवागत कलेक्टर शिवनारायण सिंह चौहान को लगातार जिला अस्पताल में अव्यवस्थाओं की शिकायत मिल रही थी, जिसके चलते उन्होंने बैढन स्थित जिला अस्पताल का निरीक्षण किया.

इस दौरान उन्हें वार्ड सहित पूरे अस्पताल में भारी गंदगी और अव्यवस्थाओं का आलम मिला. इसे देख कलेक्टर भड़क गए और उन्होंने अस्पताल प्रशासन के अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई.

प्रदेश18 विशेष : अजन्मे बच्चों की 'कब्रगाह' बन चुका है ये शहर, रोज दफन होती हैं सैकड़ों किलकारियां


कलेक्टर ने कहा कि अगर स्वस्थ आदमी को जिला अस्पताल में भर्ती कर दिया जाए तो वो यहां से बीमार होकर निकलेगा. उन्होंने कहा कि यहां के हालात नर्क जैसे हैं.



इस मामले में अब कलेक्टर शिवनारायण सिंह ने जांच के आदेश जारी कर दिए हैं. कलेक्टर ने बताया कि सभी को निर्देशित कर दिया गया है कि जल्द से जल्द स्थिति को सुधारा जाए. यदि ऐसा नहीं होता है तो दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading