आरक्षक से 50 हजार ठगने के प्रयास में फर्जी पुलिस इंस्पेक्टर गिरफ्तार

खुद को क्राइम ब्रांच का सब इंस्पेक्टर बताकर एक युवक फोन पर एक आरक्षक को थानेदार बनाने के एवज में उससे 50 हजार रुपये की मांग कर रहा था. लेकिन पुलिस ने जाल बिछाकर फर्जी युवा पुलिस इंस्पेक्टकर को गिरफ्तार कर लिया.

Anchal Shukla | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 30, 2019, 7:45 PM IST
आरक्षक से 50 हजार ठगने के प्रयास में फर्जी पुलिस इंस्पेक्टर गिरफ्तार
रीवा - फोन पर आरक्षक को ठगने के प्रयास में धरा गया फर्जी पुलिस अधिकारी.
Anchal Shukla
Anchal Shukla | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 30, 2019, 7:45 PM IST
खुद को क्राइम ब्रांच का सब इंस्पेक्टर (Fake police inspector)  बताकर ठगी (Fraud) करने वाले एक युवक को रीवा पुलिस (Rewa Police) ने गिरफ्तार किया है. ठगी करने के आरोप में पकड़ा गया युवक एक आरक्षक को थानेदार बनाने के एवज में उससे 50 हजार रुपये की मांग कर रहा था. आरक्षक को जब शक हुआ तब उसने इसकी जानकारी अपने वरिष्ठ अधिकारियों को दी. पुलिस ने जाल बिछाकर फर्जी युवा पुलिस इंस्पेक्टर को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और उससे पूछताछ (Police Investigation) कर रही है. पुलिस उसके द्वारा अब तक किए गए अपराधों की जानकारियां जुटा रही है.



पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार रीवा के चोरहटा थाना में पदस्थ आरक्षक दिलीप तिवारी के पास एक फोन आया जिसमें कहा गया कि अगर वह 50 हजार रुपए देंगे तो उन्हें थानेदार बना दिया जाएगा. फोन करने वाले व्यक्ति ने खुद को क्राइम ब्रांच का सब इंस्पेक्टर बताया था. वह थानेदार की जगह खाली होने की बात करते हुए आरक्षक दिलीप से पैसे ठगने का प्रयास कर रहा था. लेकिन आरक्षक ने इस फोन की जानकारी अपने अधिकारियों को दी. फिर एक योजना के तहत आरक्षक ने फोन करने वाले युवक से बातचीत कर उसके द्वारा बताई जगह पर मिलने पहुंचा. यहां उस व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

रीवा के एडिशनल एसपी शिवकुमार वर्मा ने बताया कि पकड़ाया युवक नीलेश द्विवेदी है जो प्रयागराज का रहने वाला है. पुलिस के अनुसार युवक ने सामान थाना अंतर्गत उप्पल बाइक एजेंसी से 1.28 लाख की एक बाइक 70 हजार रुपये देकर फर्जी दस्तावेज के आधार पर फाइनेंस कराई थी और उसके बाद से गायब था. आरोपी महाराजा होटल में रुका हुआ था और सभी को क्राइम ब्रांच का सब इंस्पेक्टर बता कर ठगी कर रहा था.

ये भी पढ़ें - दिग्विजय की चिट्ठी से क्यों आया एमपी की सियासत में भूचाल?

ये भी पढ़ें - अफसरों की मनमानी स्‍टूडेंट्स पर पड़ रही है भारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रीवा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 7:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...