भारत-चीन झड़प: गलवान में शहीद हुआ रीवा का वीर सपूत दीपक सिंह, 6 महीने पहले हुई थी शादी
Rewa News in Hindi

भारत-चीन झड़प: गलवान में शहीद हुआ रीवा का वीर सपूत दीपक सिंह, 6 महीने पहले हुई थी शादी
रीवा का सैनिक गलवान घाटी में शहीद (File)

रात करीब 10:00 बजे उनके पिता (father) गजराज सिंह के पास बिहार रेजिमेंट से (phone) आया. गजराज सिंह को सूचना दी गयी कि उनका बेटा देश के लिए वीरगति को प्राप्त हो गया है

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 17, 2020, 10:12 PM IST
  • Share this:
अर्पित पांडेय

रीवा.भारत और चीन (India China rift) के बीच लद्दाख सीमा (Ladakh Lac Border) पर गलवान में हुई हिंसक झड़प में रीवा (rewa) ने भी अपना एक सपूत देश के लिए न्यौछावर कर दिया. इस हिंसक झड़प में जो 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए उनमें रीवा के लाल दीपक सिंह भी हैं. वो रीवा के मनगंवा के फरेंदा गांव के रहने वाले थे और उसी बिहार रेजिमेंट में थे जिसने चीनी सेना से लोहा लिया.आधी रात को पिता के पास सेना का फोन आया कि आपका बेटा शहीद हो गया.

रीवा के फरैदा गांव को अपने वीर सपूत का इंतज़ार है. वो आएगा लेकिन तिरंगे में लिपटकर. दीपक गलवान में भारत-चीन के बीच हुई हिंसक झड़प में शहीद हो गया.अभी 6 महीने पहले ही तो दीपक की शादी हुई थी. भाई याद करते हैं उसने लॉकडाउन खत्म होने के बाद घर आने का वादा किया था.




रात में आया फोन...
रात करीब 10:00 बजे उनके पिता गजराज सिंह के मोबाइल फोन पर बिहार रेजिमेंट से फोन आया. गजराज सिंह को सूचना दी गयी कि उनका बेटा देश के लिए वीरगति को प्राप्त हो गया है. उनके शहादत की सूचना मिलते ही पूरे गांव में सन्नाटा पसर गया. दीपक की 30 नवंबर को जोगनिहाई गांव में रहने वाली रेखा सिंह के साथ शादी हुई थी. अपनी छुट्टी खत्म कर वो 14 फरवरी को ड्यूटी पर लौटे थे. कोई क्या जानता था कि वो फिर कभी लौट कर घर नहीं आएंगे.





भाई से किया था वादा
ये परिवार वीर जवानों का है. शहीद दीपक के बड़े भाई प्रकाश सिंह भी सेना में हैं. प्रकाश याद करते हैं कि अभी 12 दिन पहले ही तो उनकी अपने भाई से बात हुई थी. दीपक ने वााद किया था कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद वो घर आएंगे.

श्रद्धांजलि देने वालों का तांता
शहादत की सूचना जैसे ही रीवा पहुंची वैसे ही तमाम राजनीतिक दलों के नेताओं सहित प्रशासनिक अमला उनके गांव पहुंच गया. शहीद को श्रद्धांजलि देने पूरा गांव और विभिन्न राजनीतिक दलों के पदाधिकारी पहुंचे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज