Home /News /madhya-pradesh /

रानी-राजकुमारी की मौत को लेकर नया खुलासा, पढ़िए

रानी-राजकुमारी की मौत को लेकर नया खुलासा, पढ़िए

छतरपुर के नैगुवां रियासत के पूर्व महाराज विजय बहादुर सिंह की पत्नी व बेटी की मौत के मामले में नया खुलासा हुआ है.

छतरपुर के नैगुवां रियासत के पूर्व महाराज विजय बहादुर सिंह की पत्नी व बेटी की मौत के मामले में नया खुलासा हुआ है.

छतरपुर के नैगुवां रियासत के पूर्व महाराज विजय बहादुर सिंह की पत्नी व बेटी की मौत के मामले में नया खुलासा हुआ है.

  • Pradesh18
  • Last Updated :
    छतरपुर के नैगुवां रियासत के पूर्व महाराज विजय बहादुर सिंह की पत्नी व बेटी की मौत के मामले में नया खुलासा हुआ है. पीएम रिपोर्ट में बताया गया कि मां-बेटी की मौत पसली टूटने और गला दबाने से हुई है.

    दरअसल, महल में रानी और राजकुमारी का हाथ रूम हीटर पर रखे होने से माना जा रहा था कि दोनों की मौत करंट से हुई हैं. जबकि ये महज हादसा न होकर हत्या का मामला है. पुलिस ने पीएम रिपोर्ट के आधार पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है.

    अब पुलिस की सारी जांच एक दांत और शर्ट के बटन पर टिकी हुई हैं. घटनास्थल के पास दांत के अलावा पुरुष शर्ट का बटन मिलना संघर्ष होने की बात को बयां कर रहा है.

    संपत्ति विवाद से गहराया शक
    स्थानीय लोग दबे स्वरों में संपत्ति विवाद को रानी और राजकुमारी की मौत से जोड़कर देख रहे हैं. उनकी बात पर भरोसा किया जाए तो, राजघराने के पास संपत्ति को लेकर 30 एकड़ जमीन और एक महल है.

    मृतक रानी की बेटी ने शादी नहीं की थी और वह मां के साथ महल में ही रहती थी. रानी का बेटा राजबहादुर सिंह भी महल में ही अलग अपनी पत्नी के साथ रहता था. भाई और बहन में संपत्ति विवाद भी हो सकता है. इन्हीं बिंदुओं को ध्यान में रखकर पुलिस जांच में जुटी है.

    18 फरवरी को मिले थे शव
    छतरपुर जिले के नौगांव थाना इलाके की नैगुवां गांव में स्थित रियासत महल में रानी युवरानी पति विजय बहादुर सिंह (60) और राजकुमारी बेबी (40) के शव संदिग्ध अवस्था में मिले थे.

    घटना का पता तब चला जब महल में दूध देने आने वाली वृद्धा ने दरवाजे खटखटाए. नहीं खुलने पर उसने गांव के लोगों बुला लिया. ग्रामीणों ने नौगांव थाना को जानकारी दी, तो एसडीओपी उमेश सिंह तोमर, थाना प्रभारी मृगेंद्र त्रिपाठी भी पहुंचे.

    दरवाजे खुलवाकर देखा तो युवरानी और उनकी राजकुमारी मृत अवस्था में पड़ीं थीं. राजकुमारी के हाथ का पंजा रूम हीटर पर रखा होने से जल चुका था. आंगन में टूटे दांत और किसी की शर्ट का बटन भी मिला. पुलिस ने बारीकी से जांच के लिए छतरपुर से एफएसएल और डॉग स्क्वार्ड को बुलाया. वहीं, शवों का पोस्टमार्टम के भेज दिया.

    दो दिन से दरवाजा बंद था
    दरअसल, युवरानी का पुत्र राजा बहादुरसिंह (45) अपनी पत्नी के साथ उत्तरप्रदेश के उरई में किसी शादी में शामिल होने के लिए गए थे. जिसके बाद से दो दिनों से महल के दरवाजे भी नहीं खुल रहे थे.

    राजा का हो चुका निधन
    नैगुवां रियासत के राजा विजय बहादुरसिंह का 5 वर्ष पहले सड़क दुर्घटना में निधन हो चुका है. जिसके बाद से उनकी पत्नी युवरानी (85), पुत्र राजा बहादुरसिंह (45) और बेटी बेबीराजा (40) महल में रहते थे.

    Tags: Chhatarpur news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर