रीवा में सरकारी भवन का ताला तोड़कर कांग्रेसियों ने खोला कार्यालय

रिक्त पड़े संयुक्त महिला बाल विकास विभाग के कार्यालय का ताला तोड़कर कांग्रेस के पदाधिकारियों ने वहां अपना कार्यालय बना लिया.

Anchal Shukla | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 4, 2019, 7:32 PM IST
रीवा में सरकारी भवन का ताला तोड़कर कांग्रेसियों ने खोला कार्यालय
रीवा - सरकारी भवन का ताला तोड़कर कांग्रेसियों ने खोला कार्यालय
Anchal Shukla
Anchal Shukla | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 4, 2019, 7:32 PM IST
रीवा में लम्बे समय से बिना कार्यालय के चल रही कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं का सब्र टूट गया. सत्ता में आने के बाद कांग्रेस पदाधिकारियों ने आयुक्त कार्यालय के सामने ही सरकारी भवन का ताला तोड़कर कांग्रेस कार्यालय का उद्घाटन कर दिया. इस दौरान जिला व शहर अध्यक्ष नदारद रहे और कार्यवाहक अध्यक्ष ने बिना आवंटन के ही सरकारी भवन में कार्यालय खोल दिया. बता दें कि यहां कांग्रेस के पास लम्बे समय से कार्यालय नहीं था. ऐसे में रिक्त पड़े संयुक्त महिला बाल विकास विभाग के कार्यालय का ताला तोड़कर कांग्रेस के पदाधिकारियों ने वहां अपना कार्यालय बना लिया.

कार्यवाहक अध्यक्ष ने दलील दी कि आयुक्त को आवंटन के लिए आवेदन दिया गया है. कांग्रेसियों ने कहा कि रीवा में कार्यालय नहीं होने के चलते उन्होंने कार्यालय बनाया है. साथ में यह भी कहा कि अगर प्रशासन ने आपत्ति जतायी तो कार्यालय खाली कर दिया जाएगा. दूसरी तरफ कांग्रेस के इस कारनामे पर भाजपा ने कड़ी आपत्ति दर्ज की है.

आयुक्त ने इस पूरे मामले में अनभिज्ञता जाहिर करते हुए कैमरे के सामने कुछ भी कहने से मना कर दिया. उन्होंने इस बारे में कलेक्टर से जानकारी लिए जाने की बात कही है. वहीं जब विंध्य के इकलौते मंत्री कमलेश्वर पटेल से प्रतिक्रिया लेने की कोशिश की गई तो उन्होंने यह कहते हुए बात टाल दी कि कांग्रेस कार्यकर्ता गम्भीर हैं. कांग्रेसी ऐसा काम नहीं कर सकते हैं. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है.

कुल मिलाकर सरकारी भवन में बिना किसी प्रशासनिक अनुमति के कांग्रेस का दफ्तर खुल तो गया है. लेकिन, अभी हर कोई इस पर जिम्मेदारी के साथ बोलने से बचता नजर आ रहा है. दूसरी तरफ विपक्ष इसे मुद्दा बनाने की जुगत में है.

ये भी पढ़ें - केवल रेफर सेंटर बनकर रह गया है मंदसौर का जिला अस्‍पताल

ये भी पढ़ें - भारत के मन की बात कहने-सुनने आपके पास पहुंचेगा PM मोदी का रथ

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रीवा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2019, 7:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...